सावधान! ऑनलाइन ठगी के लिए बदमाशों ने निकाले नए रास्ते, अब ऐसे कर रहे जालसाजी

Smart News Team, Last updated: 28/05/2021 11:03 AM IST
  • ऑनलाइन ठगी करने के लिए बदमाशों ने नए तरिके अपनाना शुरू कर दिया है. वह अब व्हाट्सएप चैटिंग, फेसबुक हैक करके लोगों को ठग रहे है.
सावधान! ऑनलाइन ठगी के लिए बदमाशों ने निकालें नए रास्ते, अब ऐसे कर रहे जालसाजी

इंदौर. ऑनलाइन ठगी के पुराने तरीकों को करीब-करीब सभी लोग जान चुके हैं और उनसे बचने के लिए सतर्क भी हो गए हैं. इसके कारण साइबर अपराध करने वालों के हाथ कुछ नहीं लग रहा है. जिसके बाद ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले अपराधी अब नए तरीके अपनाने लगे है. वो अब चैटिंग और फेसबुक एकाउंट को हैक करके लोगों के साथ ठगी कर रहे हैं. साथ ही आपदा के समय में कोरोना वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन कराने और रेमडेसीवीर घर भिजवाने के नाम पर भी ऑनलाइन धोखाधड़ी कर रहे हैं. ऐसे कई नए मामले पिछले दो से तीन दिन में पुलिस के सामने आए हैं.

अपराधी व्हाट्सएप चैटिंग के जरिए अब लोगों के साथ फ्रॉड कर रहे है. इसमें सबसे पहले लड़कियां व्हाट्सएप कॉल, वीडियो कॉल और चैटिंग से बात करती है. वहीं इस दौरान वह इसका अश्लील वीडियो बनाती है. जिसे रिकॉर्ड करके ब्लैकमेल करती हैं और फिर उनसे पैसे ऐंठती है.

MP कोरोना अनलॉकः शिवराज सरकार की ढील,1 जून से ये पाबंदियां खत्म

वहीं बात करे फेसबुक की तो वह सबसे पहले किसी का भी एकाउंट को हैक कर लेते है. उसके बाद उनके परिजनों, रिश्तेदारों और करीबियों की पहचान कर उनसे मदद के बहाने पैसों की मांग करते है. इससे सम्बंधित मामले भी पुलिस के सामने लगातार सामने आ रहे हैं. 

इंदौर के जीडी हॉस्पिटल को कोरोना इलाज में लापरवाही बरतने पर किया गया सील

इतना ही नहीं साईबर अपराधी इन दिनों कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन और रेमडेसीवीर दवा को ऑनलाइन घर पहुंचाने को लेकर भी धोखाधड़ी कर रहे है. वह पहले कॉल करते है, फिर खुद को वैक्सीन रजिस्ट्रेशन अधिकारी या दवा अधिकारी बनकर कॉल करते है. उसी दौरान बैंक डिटेल पूछकर खाते से रकम साफ कर देते है. वहीं जानकारी के अनुसार पिछले तीन महीने में 50 फीसद से ज्यादा मामले पुलिस के सामने आ चुके है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें