इंदौर: मेरिट अच्छी होने के बावजूद भी नहीं लिया विद्यार्थियों ने DAVV में एडमिशन

Smart News Team, Last updated: 20/11/2020 04:21 PM IST
  • इंदौर: कोरोनावायरस के बीच देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (डीएवीवी) में एडमिशन की ऑफलाइन काउंसलिंग शुरू हो चुकी है. पहले दिन की काउंसलिंग में ऐसे कई विद्यार्थी रहे, जिनकी मेरिट तो अच्छी थी, बावजूद इसके उन्होंने एडमिशन नहीं लिया.
मन पसंद कोर्स की सीट न मिलने पर विद्यार्थियों ने नहीं लिया DAVV में एडमशन

इंदौर: कोरोनावायरस के बीच देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (डीएवीवी) में एडमिशन की ऑफलाइन काउंसलिंग शुरू हो चुकी है. पहले दिन की काउंसलिंग में ऐसे कई विद्यार्थी रहे, जिनकी मेरिट तो अच्छी थी, बावजूद इसके उन्होंने एडमिशन नहीं लिया. इसका कारण यह था कि उनके पसंदीदा कोर्स की सारी सीटें भर चुकी थीं. वे किसी दूसरे कोर्स की पढ़ाई करने को तैयार नहीं थे. आखिरकार इन छात्र-छात्राओं ने काउंसिलिंग छोड़ दीं जबकि काउंसिलिंग समिति के सदस्यों का मानना था कि इन विद्यार्थियों को अन्य कोर्स में आसानी से दाखिला मिल सकता था.

इंदौर: डीएवीवी शोधपीठ के लिए ईसी सदस्य दान करेंगे दो हजार किताबें

250वीं मेरिट वाले विद्यार्थियों को आइएमएस और आइआइपीएस से संचालित दूसरे कोर्स में भी दाखिला मिल रहा था. मगर उन्होंने काउंसिलिंग से अपना नाम वापस करवा लिया. ओबीसी में 78वीं मेरिट लाने वाले संकेत मिश्रा का कहना है कि बीबीए से ग्रेजुएशन पूरा किया है. मार्केटिंग-फाइनेंस की डिमांड को देखकर एमबीए में प्रवेश लेना था, मगर सीटें कम थी. अगले साल फिर आवेदन करूंगा.

प्रवेश समिति के सदस्य डॉ. अखिलेश सिंह के मुताबिक कुछ ही कोर्स के लिए विद्यार्थी विश्वविद्यालय में प्रवेश लेते हैं, क्योंकि इनमें प्लेसमेंट काफी अच्छे हैं. लगभग 150 से ज्यादा विद्यार्थियों को ग्रुप-ए में दूसरे कोर्स मिल सकते थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें