इंदौर: डीआईजी के पास शिकायत लेकर पहुंचे दिव्यांग को इंतजार कराना पड़ा भारी

Smart News Team, Last updated: 21/11/2020 10:16 PM IST
  • इंदौर में शिकायत करने पहुंचे दिव्यांग को इंतजार करवाना पुलिसकर्मियों को भारी पड़ गया. दरअसल, राकेश सिंह राजपूत का एक पैर खराब है. वह डीआईजी के पास कार के शोरूम मालिक के खिलाफ शिकायत करने पहुंचा था.
इंदौर में दिव्यांग को इंतज़ार करना पुलिसकर्मियों को पड़ा भारी पूर्व मंत्री ने लगाई फटकार

इंदौर: इंदौर में डीआईजी ऑफिस शिकायत करने पहुंचे दिव्यांग को इंतजार करवाना पुलिसकर्मियों को भारी पड़ गया. दरअसल, राकेश सिंह राजपूत का एक पैर खराब है. वह डीआईजी के ऑफिस कार के शोरूम मालिक के खिलाफ शिकायत करने पहुंचा था. हालांकि, इस दौरान जब पुलिसकर्मियों ने राकेश को इंतजार करने के लिए कहा तो वह भड़क गया, जिसके बाद उसने पूर्व मंत्री तुलसीराम सिलावट को फोन लगा दिया और पुलिसकर्मी से कहा कि मंत्री जी से बात कर लो. राकेश की बात सुनकर पुलिसकर्मी के होश उड़ गए.

बता दें, यह मामला गुरुवार दोपहर 2.30 बजे का है. जब धुरगड़ा (हरदा) निवासी राकेश सूरजसिंह राजपूत एक कार शोरूम संचालक के विरुद्ध शिकायत लेकर पहुंचा था.उस वक्त डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र बैठक व जनसुनवाई में व्यस्त थे. उनके चेंबर के बाहर बैठी एएसआई अनिला और सिपाही सोनू शर्मा ने कहा कुछ देर इंतजार करना पड़ेगा. जिस पर राकेश गुस्सा हो गया और तत्काल पूर्व मंत्री तुलसीराम सिलावट को कॉल लगाया और कहा मंत्री साहब से बात कर लो. मंत्री का नाम सुनते ही एएसआइ घबरा गई और तत्काल डीआईजी तक खबर भिजवाई. डीआइजी ने उसे केबिन में बुलाया और आवेदन पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

इंदौर:आनंद ज्वैलर्स के 31 कर्मचारी निकले कोरोना पॉजिटिव, ग्राहकों में मचा हड़कंप

राकेश ने डीआईजी से शिकायत में कहा कि उसने पिछले वर्ष नवंबर में कार सुधरवाने के लिए सौंपी थी, उसको 30 बार शोरूम पर बुलाया और कार नहीं दी. कई प्रकार के बहाने बनाए और वह चक्कर काटता रहा. इस बीच उसके पिता का भी देहांत हो गया. गाड़ी से ऑरिजनल पार्ट्स निकाल कर डुप्लिकेट लगा दिए. गाड़ी की चाबियां भी रख लीं. वहीं, अब इस मामले पर डीआईजी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें