इंदौर में अब घर-दुकान और दफ्तर में हानिकारक कचरे के लिए अलग होगा डस्टबिन

Smart News Team, Last updated: 07/08/2020 05:28 PM IST
  • इदौर.देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन में अब तक अव्वल इदौर ने प्रशासन नए बदलाव करने जा रहा है। शहर के घर, दुकान,और दफ्तर में गीले व सूखे कचरे को अलग-अलग रखने की व्यवस्था पहले से ही थी।
स्वच्छ भारत मिशन

 इंदौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन में अब तक अव्वल इदौर ने प्रशासन नए बदलाव करने जा रहा है। शहर के घर, दुकान,और दफ्तर में गीले व सूखे कचरे को अलग-अलग रखने की व्यवस्था पहले से ही थी। लेकिन अब कोविड संक्रमण के चलते एक और पीले रंग के वेस्टबिन को रखा जाना अनिवार्य किया गया।

निगम कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की गाइडलाइन में घरेलू हानिकारक कचरे को अलग से रखने का नियम निर्धारित किया गया है। अभी शहर में गीले व सूखे कचरे के साथ ही कोविड वेस्ट के लिए अलग से वेस्टबिन की व्यवस्था की जा रही है। लेकिन अब घरों,संस्थानों व कार्यालय से निकलने वाले कीटनाशक के डिब्बे, सीएफएल, बल्ब, ट्यूबलाइट, एक्सपायर दवाइयां, थर्मामीटर, उपयोग की गई बैटरी, सुईं व सीरिंज आदि हानिकारक कचरे की श्रेणी में आते हैं। अब तक शहर के लोग ऐसे कचरे को सूखे कचरे के साथ डब्बे में डाल देते हैं, लेकिन अब इसके लिए अगल से डिब्बा रखना होगा।हानिकारक कचरे के लिए कार्यालयों व संस्थाओं में अलग से एक काले रंग का डिब्बा रखना होगा। वहीं घरों में भी ऐसे कचरे को अलग से एकत्र करना होगा। इसके साथ ही घरों व कार्यालय से कचरा संग्रह करने वाली गाड़ियों में भी अलग से काले रंग का एक डिब्बा लगाया जाएगा। शहर में घूमकर कचरा संग्रह करने वाली 467 कचरा गाड़ियों में जल्द यह बदलाव किया जाएगा।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें