''द माइंड ब्लोइंग दुर्लभ कश्यप'' ग्रुप के 5 आरोपी गिरफ्तार, दुश्मन का सिर काट थाना में रखने का था प्लान

Sumit Rajak, Last updated: Tue, 26th Oct 2021, 12:54 AM IST
  • शहर में आतंक फैलाने की साजिश रच रहे पांच खतरनाक बदमाशों को इंदौर की बाणगंगा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.पांचों आरोपी डकैती करने के बाद मोनू कश्यप की गर्दन काट कर थाना में पेश करने के योजना बनाये हुए थे. ये बदमाश मोनू कश्यप की हत्या की साजिश द माइंड ब्लोइंग दुर्लभ कश्यप नाम के वॉट्सएप ग्रुप पर कर रहे थे.
प्रतीकात्मक फोटो

इंदौर शहर में आतंक फैलाने की साजिश रच रहे पांच खतरनाक बदमाशों को इंदौर की बाणगंगा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गैंग का मुखिया मिथिलेश लश्करी है जो उज्जैन के गैंगस्टर दुर्लभ कश्यप का सहयोगी है.ये बदमाश मोनू कश्यप की हत्या की साजिश द माइंड ब्लोइंग दुर्लभ कश्यप नाम के वॉट्सएप ग्रुप पर कर रहे थे.पांचों आरोपी डकैती करने के बाद मोनू की गर्दन काट कर थाना में पेश करने की योजना बनाये हुए थे. इस गैंग में  राजस्थान, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के गैंगस्टर भी शामिल थे.

गौरतलब है कि बाणगंगा थाना क्षेत्र के निवासी आरोपी मिथिलेश का राधानगर के निवासी मोनू कश्यप से कुछ दिनों से विवाद चल रहा था. बदला लेने के उद्देश से मिथिलेश ने वाट्सअप ग्रुप द माइंड ब्लोइंग में के हर शहर के बदमाशों से चेटिंग करना शुरु कर दी. साथ ही वाट्सअप ग्रुप में कहा कि सभी हथियार लेकर आओ. उन्होंने कहा कि इंदौर शहर में आतंक मचाना है. मोनू कश्यप को जान से मारना है. पुलिस को इसकी जानकारी की पुष्टी हुई तो पुलिस ने वाट्सअप ग्रुप पर नजर रखने शुरु कर दिया. साथ हीं अपने खुफिया तंत्र को सक्रिय किया. वारदात के पहले ही  पांचों बदमाश गैंग का मुखिया मिथिलेश, मोनू उर्फ मनोज, सन्नी उर्फ भय्यू, प्रदीप  और राज को गिरफ्तार कर देशी कट्टा, तीन चाकू, मोबाइल और कार जब्त कर लिया.

इश्क बेपरवाह: 13 साल छोटे रिक्शेवाले के साथ लाखों के जेवर, कैश लेकर महिला फरार

बताया जा रहा कि गैंग का सरगना मिथिलेश उज्जैन के गैंगस्टर दुर्लभ कश्यप का सहयोगी रहा है. दुर्लभ कश्यप की एक साल पहले हत्या हो गई थी. गैंग का सरगना मिथिलेश दुर्लभ से इतना प्रभावित था कि उसने अपने सीने पर उसका टैटू गुदवाया था . कुछ दिन पहले मोनू कश्यप से विवाद हुआ और मोनू ने गैंग के सरगना मिथिलेश को चांटा मार दिया. मिथिलेश ने शर्ट का बटन खोलकर दुर्लभ का फोटो दिखाकर कहा कि वह दुर्लभ का साथी है. मोनू गुस्से में आकर दुर्लभ को भी अपशब्द बोलने लगा.  वहां  से मिथिलेश को भगा दिया. फिलहाल गैंग के पांचों बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं पुलिस वाट्सअप चैटिंग के आधार पर गैंग के अन्य साथियों की भी तलाश कर रही है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें