इंदौर: 350 सालों में पहली बार नहीं लगेगा खाटूश्याम मंदिर का फाल्गुनी मेला

Smart News Team, Last updated: 04/02/2021 03:55 PM IST
  • राजस्थान में स्थित खाटू श्याम धाम में हर साल लगने वाला फाल्गुनी मेला इस बार नहीं लगेगा. 350 सालों में ऐसा पहली बार हो रहा है जब यह मेला नहीं लगेगा. इस संबंध में इंदौर के श्याम प्रेमी संघ अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल रामपीपलिया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भी लिखा है.
खाटूश्याम मंदिर का फाल्गुनी मेला (प्रतीकात्मक तस्वीर)

राजस्थान में स्थित खाटू श्याम धाम में हर साल लगने वाला फाल्गुनी मेला इस बार नहीं लगेगा. 350 सालों में ऐसा पहली बार हो रहा है जब यह मेला नहीं लगेगा. इतना ही नहीं, कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण जिला कलेक्टर ने 14 से 24 मार्च तक ऑनलाइन दर्शन भी बंद करने के आदेश दिये हैं. इस संबंध में इंदौर के श्याम प्रेमी संघ अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल रामपीपलिया ने बताया कि वह सीकर जिला प्रशासन के इस निर्णय के खिलाफ में देशभर में मौजूद खाटूश्याम भक्तों के साथ एकजुट होकर विरोध की रणनीति बना रहे हैं.

बता दें कि राजस्थान में लगने वाला खाटूश्याम का फाल्गुनी मेला पूरे विश्व में काफी प्रसिद्ध है और लाखों श्रद्धालु हर साल श्याम बाबा के दर्शन करने के लिए यहां दूर-दूर से आते हैं. लेकिन इस साल जिला प्रशासन ने कोविड के नियमों का सख्ती से पालन करते हुए मेला न लगने का ऐलान किया है. ऐसे में श्याम प्रेमी संघ अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को देशभर के विभिन्न श्याम भक्तों की तरफ से पत्र भेजा है.

क्राइम ब्रांच ने पकड़ा बिल्ला नाम का ड्रग्स तस्कर, करोड़ों की ड्रग्स भी हुई बरामद

पत्र में प्रेमी संघ अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल प्रशासन को अपने निर्णय पर दोबारा से विचार करने की भी सलाह दी है. उन्होंने अपने पत्र में कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रशासन के निर्णय पर पुनर्विचार करें और फाल्गुनी मेले को कोविड-19 के प्रावधानों के तहत अनुमति देने की पहल करें. सुरेश अग्रवाल ने अपने पत्र में यह भी कहा कि अगर समय रहते निर्णय नहीं लिया गया तो श्यामभक्तों को आंदोलन के लिए बाध्य होना होगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें