इंदौर: पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा- किसानों की आवाज दबा रही है मध्य प्रदेश सरकार

Smart News Team, Last updated: Mon, 25th Jan 2021, 4:13 PM IST
  • मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने नए कृषि कानूनों के विरोध में इंदौर से 50 किमी दूर देपालपुर में एक किसान ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व किया. कमलनाथ ने कहा कि भोपाल में किसानों की आवाज को कुचलने की कोशिश की गई. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार कृषि क्षेत्र का निजीकरण करने की कोशिश कर रही है.
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

इंदौर. मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रविवार को केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ भोपाल में विरोध प्रदर्शन के दौरान अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोग के लिए राज्य सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार किसानों की आवाज को कुचलने की कोशिश कर रही है. नए कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए कमलनाथ ने इंदौर से लगभग 50 किलोमीटर दूर देपालपुर में एक किसान ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व किया था. 

उन्होंने कहा कि सरकारी अधिकारियों ने गलत कहा कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ झड़प की और कथित रूप से पत्थर फेंके, जबकि असल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भोपाल के राजभवन का घेराव किया, पुलिस ने उन पर पानी के बौछारों, आंसू गैस का इस्तेमाल उन्हें हटाने के लिए किया. देपालपुर में पत्रकारों से बात करते हुए कमलनाथ ने कहा कि भोपाल में प्रशासन ने किसानों की आवाज को कुचलने की कोशिश की है. सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी यह नहीं समझती है कि किसानों में हमारे देश का सबसे बड़ा समुदाय समाहित है. पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार तीन नए कृषि कानूनों के माध्यम से देश के कृषि क्षेत्र का निजीकरण करने की कोशिश कर रही है.

इंदौर: तीन तलाक बोलकर दूसरा निकाह कर रहा था युवक, पुलिस ने रोका, केस दर्ज 

कमलनाथ ने कहा कि लाखों किसान कई दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं. ये कानून हमारे राज्य और देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट कर देंगे, क्योंकि वे किसानों की क्रय शक्ति को कम कर देंगे, जिससे बाजार खत्म हो जाएंगे. ट्रैक्टर रैली में भाग लेने से पहले कमलनाथ ने देपालपुर में एक मंदिर पहुंचे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें