ट्रीटेड वॉटर से शुरू हुए 11 फव्वारे, इंदौर बना ऐसा पहला शहर

Smart News Team, Last updated: Sat, 20th Feb 2021, 5:04 PM IST
  • इंदौर में हाल ही में ट्रीटेड वॉटर के जरिए 11 फव्वारों का निर्माण किया गया है. यह फव्वारे विजय नगर चौराहे से शारदा मठ तक करीब छह स्थानों पर लगाए गए हैं. ट्रीटेड वॉटर का फाउंटेन में इस्तेमाल करने वाला इंदौर देश का पहला शहर बना है.
ट्रीटेड वॉटर से शुरू हुए 11 फव्वारे, इंदौर बना ऐसा पहला शहर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौर शहर स्वच्छता के मामले में देश में नंबर वन शहर बनता जा रहा है. इसके साथ ही इंदौर में अब चीजों का नया नया उपयोग भी किया जा रहा है. दरअसल, इंदौर में हाल ही में ट्रीटेड वॉटर के जरिए 11 फव्वारों का निर्माण किया गया है. यह फव्वारे विजय नगर चौराहे से शारदा मठ तक करीब छह स्थानों पर लगाए गए हैं. इसके जरिए इंदौर पहला ऐसा शहर बन चुका है, जहां ट्रीटेड वॉटर के जरिए फव्वारे चलाए जाएंगे.

ट्रीटेड वॉटर के जरिए चालू होने वाले इन फव्वारों का उद्घाटन बीते शुक्रवार को संभागायुक्त डॉक्टर पवन शर्मा ने किया. बताया जा रहा है कि ट्रीटेड वॉटर के जरिए चलने वाले फव्वारों का निर्माण स्वच्छ भारत मिशन के तहत किया गया है. इस मिशन के लिए करीब 245 मिलिलीटर की क्षमता से ट्रीटमेंट प्लान का निर्माण किया गया था. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक स्वच्छ भारत मिशन के तहत ट्रीटेड वेस्ट वॉटर के फिर से उपयोग के लिए कबीटखेड़ी में 245 एमएलडी क्षमता का सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाया गया है.

नाले में हुई निगम की मीटिंग, सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के दिये निर्देश

ट्रीटेड वॉटर से चलाए जा रहे इन फव्वारों के लिए कई तरह की व्यवस्थाएं भी की गई हैं. इसमें ट्रीटेड वाटर की पाइप लाइन डालकर मेघदूत गार्डन के पीछे वाले भाग में टंकी का निर्माण किया गया है. इस टंकी से कई उद्यानों में पानी की सप्लाई भी की जाएगी. बता दें कि इससे पहले इंदौर में नालों और कूड़ाघरों को भी खेलने की जगह के रूप में तब्दील किया गया था. हाल ही में इंदौर में स्वच्छ भारत मिशन के तहत नाले में निगम की मीटिंग भी की गई थी.

शादी में घुस आए नाबालिग चोर, 15 लाख रुपये के जेवर लेकर हुए फरार

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें