इंदौर के जीडी हॉस्पिटल को कोरोना इलाज में लापरवाही बरतने पर किया गया सील

Smart News Team, Last updated: Thu, 27th May 2021, 2:07 PM IST
  • इंदौर में सांवेर में स्थित जीडी हॉस्पिटल द्वारा कोविड नियमो की अनदेखी कर मनमाने तरीके से इलाज किया जा रहा था, जिसकी सूचना मिलने पर प्रशासन ने हॉस्पिटल पर कार्रवाई कर उसे सील कर दिया है.
इंदौर में हॉस्पिटल पर प्रशासन की कार्रवाई .

इंदौर. कोरोना काल में भारी अनियमितता, बिलिंग में गड़बड़ी करने और मरीजों को उचित इलाज नहीं देने की शिकायत पर सांवेर के कुडाना रोड स्थित जीडी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल को प्रशासन ने बुधवार शाम को सील कर दिया. वही इस पूरे मामले में सांवेर तहसीलदार ने जांच की बात कही है.

 

 इंदौर जिले के सांवेर में एसडीएम रवीश श्रीवास्तव को लंबे समय से कुडाना रोड स्थित जीडी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की शिकायत मिल रही थी. मंगलवार को एसडीएम ने ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर के साथ जीडी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का दौरा किया था और स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया. जहां प्रशासनिक अधिकारियों ने अस्पताल संचालक गोकुल दयाल से भी पूछताछ की.

MP में 1 जून 20 लोगों के साथ शादी की परमिशन, सभी को कराना होगा कोविड टेस्ट

मिली जानकारी के अनुसार अस्पताल में कोरोना के मरीजों का इलाज चल रहा रहा था और 25 बेड के हॉस्पिटल में अस्पताल संबंधित प्रोटोकॉल का उल्लंघन हो रहा था और नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही थी. ऐसे में एसडीएम ने अस्पताल को तुरंत सील करने का आदेश दिया.

फर्जी कर्फ्यू पास को लेकर पुलिस ने दिखाई सख्ती, सैंकड़ों गाड़ियों से हटाए पास

जिसके बाद बुधवार शाम को तहसीलदार पुलिस के साथ जीडी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल पहुंचे और अस्पताल को सील करने की कार्रवाई की. इस दौरान तहसीलदार ने कहा कि साँवेर नगर और आसपास के ग्रामीण क्षेत्र के लोग इस अस्पताल में अपना उपचार करवाने आते हैं जहां लंबे समय से मरीज और आमजन की ओर से इस अस्पताल को लेकर अनियमितता, बिलिंग में भारी गड़बड़ी और प्रोटोकॉल के उल्लंघन की शिकायतें आ रही थी.

 

वहीं प्रशासनिक अधिकारियों ने पुलिस के साथ दबिश देकर अस्पताल के कंप्यूटर में सेव किया गया डाटा ,मरीजों की जानकारी, किस मरीज से कितनी रकम इलाज के लिए वसूली गई, किन-किन तरह से अस्पतालों में अनियमितता बरती जा रही है, इन सब को जब्त कर आगे की जांच को शुरू कर दिया है .

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें