खुशखबरी: इंदौर की प्रमुख योजनाओं पर कैबिनेट की लगी मुहर, जल्दी होगी शुरुआत

Smart News Team, Last updated: 16/09/2020 11:29 AM IST
  • इंदौर. 678 ग्राम पंचायतों के क्षेत्र के भूजल स्तर में होगा सुधार. इंदौर पीथमपुर इन्वेस्टमेंट रीजन में नए औद्योगिक क्षेत्र का होगा विकास
प्रतीकात्मक तस्वीर

इंदौर। मंगलवार को कैबिनेट की हुई बैठक में कई महत्वपूर्ण प्रस्ताव पर मुहर लगा दी गई है. कैबिनेट ने विशेष प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगाकर मंजूरी दे दी है. इंदौर व आसपास क्षेत्र में तेजी से विकास होगा. मंगलवार को हुई बैठक में क्षेत्र के विकास को लेकर अहम चर्चा की गई. इस दौरान चर्चा के बाद जारी किए गए विभिन्न प्रस्ताव पर कैबिनेट ने अपनी मुहर लगा दी है. इसमें इंदौर पीथमपुर इन्वेस्टमेंट रीजन में नए औद्योगिक क्षेत्र को विकसित किए जाने की भी योजना बनाई गई है. इस प्रस्ताव पर भी कैबिनेट ने अपनी मंजूरी दे दी है.

इसके अलावा क्षेत्र के 678 ग्राम पंचायतों श्री क्षेत्र के भूजल स्तर में सुधार किए जाने की भी प्रस्ताव पर कैबिनेट ने अपनी मुहर लगा दी है.

इन प्रस्तावों पर लगी कैबिनेट की मुहर

नि:शक्त बालक- बालिकाओं के लिए ग्वालियर में स्टेडियम निर्माण के लिए 7.902 हेक्टेयर भूमि आवंटित कर दिया गया है. स्टेडियम के निर्माण हो जाने से निश्चित बालक बालिकाओं को खेलने में आसानी होगी. इससे वह अपनी प्रतिभा का भी प्रदर्शन कर सकेंगे. 

इंदौर-पीथमपुर इन्वेस्टमेंट रीजन में नवीन औद्योगिक क्षेत्र विकसित होगा. नए औद्योगिक क्षेत्र के विकास पर रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे. साथ ही नई कंपनियों के स्थापना हो सकेगी जहां लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा.सेक्टर 4 तथा 5 को 586.70 हेक्टेयर भूमि को 550 करोड़ रुपए की लागत से दो चरणों में विकसित किया जाएगा. बल्क ड्रग पार्क की स्थापना होगी. उन्हें विशेष वित्तीय सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. बल्क ड्रग पार्क की स्थापना होने से मेडिकल फील्ड को भी तरजीह मिलेगी. इससे क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं मैं लोगों को सहूलियत होगी.

होशंगाबाद जिले के बाबई-मोहासा में मेडिकल डिवाइस पार्क की स्थापना होगी. इसमें आने वाले उद्योगों को विशेष रियायत मिलेगी.अटल भू-जल योजना के लिए 314 करोड़ 54 लाख रुपए की मंजूरी मिल गयी है. बुंदेलखंड के 6 जिलों सागर, दमोह, छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना तथा निवाड़ी के 9 ब्लॉकों सागर, पथरिया, छतरपुर, नौगांव, राजनगर, बल्देवगढ़, निवाड़ी, पलेरा एवं अजयगढ़ की 678 ग्राम पंचायतों के क्षेत्र के भू-जल स्तर में सुधार होगा.भूजल स्तर में सुधार किए जाने से जल संरक्षण को भी बढ़ावा मिलेगा.मध्यप्रदेश माल और सेवा कर (संशोधन) विधेयक 2020 तथा मध्यप्रदेश कराधान अधिनियमों की पुरानी बकाया राशि का समाधान विधेयक 2020 का अनुमोदन किया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें