गृहमंत्री ने ट्वीट कर मांगी मांफी, मास्क लगाने को लेकर दिया था आपत्तिजनक बयान

Smart News Team, Last updated: 24/09/2020 12:01 PM IST
  • मास्क लगाने को लेकर दिए गए बयान के बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा चौतरफा घिर गए, गृहमंत्री ने ट्वीट कर जनता से मांफी मांगी और कहा मेरे बयान से कानून की अवहेलना महसूस हुई है
नरोत्तम मिश्रा

भोपाल: एकतरफ जहां कोरोना से बचने के लिए सरकार तमाम प्रकार के नियम कानून बना रही है, तो वहीं नियमों की धज्जियाँ उनके मंत्री ही उड़ा रहे हैं. कुछ दिनों पहले मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मास्क लगाने लेकर एक बयान दिया था;

वहीं गृह मंत्री के मास्क नहीं लगाने के सवाल पर अब सुर बदल गए हैं. मंत्री के मास्क नहीं पहनने पर लोगों ने सोशल मीडिया पर जमकर नाराजगी जताई और कई लोगों ने उनके खिलाफ जुर्माना तक लगाए जाने की मांग कर डाली.

तमाम विवादों और विरोधों के बाद मंत्री ने सफाई में कहा कि मुझे सांस लेने में तकलीफ होती है, इसलिए मास्क नहीं पहनता हूं. अब ऐसे बयान के बाद सियासी संग्राम तो होना ही था, गुरुवार सुबह उनके तेवर और नरम हो गए और उन्होंने बयान जारी कर कहा कि मैं इसके लिए माफी मांगता हूं.

गृह मंत्री का बयान-

मास्क पहनने के बारे में मेरे बयान से कानून की अवहेलना महसूस हुई है। यह माननीय प्रधानमंत्री जी की भावना के अनुरूप नहीं था। मैं अपनी गलती मानते हुए खेद प्रकट करता हूँ। मैं स्वंय भी मास्क पहनूंगा। समाज से भी अपील करूंगा कि सभी मास्क पहनें

इसलिए मांगनी पड़ी माफी

बुधवार को मंत्री जी इंदौर गए थे, 4 घन्टे तक अलग अलग सरकारी कार्यक्रमों में शामिल भी हुए लेकिन मंत्री जी के मुंह पर मास्क तो था ही नहीं. कार्यक्रम के दौरान अच्छी खासी भीड़ भी रही, पहले भी कई बार मास्क नहीं पहनने के सवाल पर वे मुस्कुराते हुए और अलग-अलग तरह से प्रतिक्रिया दे चुके थे.

इसी दौरान उनसे पूछा गया कि वे मास्क क्यों नहीं लगाते तो उन्होंने कहा- ‘मैं कभी मास्क नहीं पहनता, मैं यहां क्या, किसी भी कार्यक्रम में मास्क नहीं पहनता; इससे क्या होता है. मैं तो कभी मास्क पहनता ही नहीं हूं.’ फिर क्या इसके बाद तो मंत्री जी कांग्रेस समेत लोगों के निशाने पर आ गए.

आपको बता दें कि सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान सिर्फ गृह मंत्री ने मास्क नहीं लगाया. हैरानी की बात यह थी कि यह पुलिस का ही कार्यक्रम था.

जब मास्क न लगाने को लेकर सवाल उठे तो मंत्री जी बोले- सांस की तकलीफ है

गृह मंत्री ने बाद में सफाई में कहा- सांस लेने में तकलीफ की वजह से कभी-कभी मास्क नहीं लगाता हूं. बाकी मैंने कई कार्यक्रमों में मास्क लगाया है. प्रदेश के लोगों से अपील है कि वे भी मास्क लगाएं और कोविड नियमों का पालन करें.

कांग्रेस ने रखा था ईनाम

कांग्रेस ने गृह मंत्री को मास्क पहनाने वाले को इनाम देने का वादा कर रखा था. कोरोना के लगातार बढ़ते कहर के बीच गृहमंत्री के मास्क नहीं पहनने को लेकर शुरू से ही विवाद खड़ा होता रहा, ऐसे में कांग्रेस ने एक इनामी घोषणा भी की थी. उन्होंने कहा था कि जो भी मिश्रा को मास्क पहनाएगा उसे 11 हजार रुपए कांग्रेस अपनी तरफ से देगी. उसके बाद मंत्री ने कहा कि इस रकम को उपयोग मुझे मास्क पहनाने की जगह लोगों की मदद में खर्च करें. हालांकि फिर मुख्यमंत्री के कहने के बाद मास्क पहनना शुरू कर दिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें