मानवता शर्मसार, डॉक्टरों की लापरवाही से तीन दिन तक मॉर्चुअरी में पड़ा रहा शव

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 08:05 PM IST
  • इंदौर में डॉक्टरों की संवेदनहीनता से मानवता एक बार फिर से शर्मसार हो गई है. दरअसल, यहां एक अज्ञात शव तीन दिनों तक मॉर्चुअरी में यूं ही पड़ा रहा.
डॉक्टरों की लापरवाही, मॉर्चुअरी में पड़ा सड़ता रहा शव

इंदौर.इंदौर से एक बार फिर डॉक्टरों की लापरवाही का मामला सामने आ रहा है. यहां संवेदनहीन हो चुके डॉक्टर ने दो शवों को तीन दिनों तक मॉर्चुअरी में ऐसे ही छोड़ दिया. दरअसल, जिला अस्पताल में शव सुरक्षित रखने के लिए बॉडी कूलर है लेकिन तकनीकी खराबी के कारण उनमें पिछले एक साल से शव रखे ही नहीं जा रहे हैं. इसी वजह से सिमरोल में मिला एक अज्ञात व्यक्ति का शव जिला अस्पताल की मॉर्चुअरी में रखा रहा तीन दिनों तक ऐसे ही रखा रहा और पिछले दो दिन से एयरपोर्ट क्षेत्र से मिला एक अज्ञात महिला का शव भी मार्चुरी में ही रखा हुआ है.

रेल का टिकट नहीं होने पर ट्रक से जा रहे थे मुंबई, इंदौर में टैंकर से भिड़ंत, एक युवक की मौत

गौरतलब है कि जिला अस्पताल में अज्ञात शवों को तीन दिन तक रखा जाता है ताकि उनकी शिनाख्त हो सके. मृतक को कोई रिश्तेदार या परिवार नहीं मिलने पर निगम द्वारा उसका अंतिम संस्कार किया जाता है. ऐसे में अज्ञात शव यहां पर 36 घंटे रखे रहते है और जिसके कारण शव डिकंपोज होने के साथ खराब होते है. वहीं, इसको लेकर शव परीक्षण केंद्र के प्रभारी डॉ भरत वाजपेयी ने कहा कि अज्ञात शव की बॉडी को मॉच्युरी में रखते है ताकि उसकी सुरक्षा व शिनाख्त में आसानी हो. यहां पर चार शवों को रखने के लिए बॉडी कूलर है लेकिन उपयोग में न आने के कारण लंबे समय से खराब है. इस वजह से सुधार नहीं कराया गया. हमार पास स्टॉफ भी कम है. मौजूदा स्टॉफ के लिए कूलर का रख रखाव संभव नहीं है.

बता दें, जिला अस्पताल में वर्ष 2008 में चार बॉडी कूलर करीब 10 लाख रुपये खर्च कर खरीदे गए थे, एक साल से ये बंद है लेकिन यहां के अफसरों ने आज तक इन्हें ठीक करवाने के लिए कोई शिकायत नहीं की है. इसको लेकर डॉक्टरों की संवेदनहीनता साफ तौर पर देखी जा सकती है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें