दिसंबर से फरवरी 2022 तक पांच जोड़ी ट्रेनें रद्द, कई के समय में बदलाव, फुल डिटेल्स

Swati Gautam, Last updated: Fri, 8th Oct 2021, 7:05 PM IST
  • भारतीय रेलवे ने दिसंबर से फरवरी 2022 तक झांसी-कोलकाता एक्सप्रेस समेत पांच जोड़ी ट्रेनें निरस्त करने जैसा बड़ा फैसला लिया है. इसके पीछे की वजह कोहरा बताया जा रहा है. वहीं महाबोधि, स्वतंत्रता सेनानी, नई दिल्ली-सहरसा एक्सप्रेस समेत सात जोड़ी ट्रेनों के फेरों को घटा दिया गया है. अक्टूबर से कई ट्रेनों के समय में भी बदलाव किया गया है.
दिसंबर से फरवरी 2022 तक पांच जोड़ी ट्रेनें रद्द, कई के समय में बदलाव, फुल डिटेल्स 

इंदौर. भारतीय रेलवे ने ट्रेनों के परिचालन को लेकर कई बड़े बदलाव किए हैं. बता दें कि रेलवे ने दिसंबर में पांच जोड़ी ट्रेनें निरस्त करने जैसा बड़ा फैसला लिया है. इन ट्रेनों का परिचालन दिसंबर 2021 से लेकर फरवरी 2022 तक बंद रहेगा. इतना ही नहीं रेलवे ने सात जोड़ी ट्रेनों के फेरे भी घटा दिए हैं. जिसमें महाबोधि, स्वतंत्रता सेनानी, नई दिल्ली-सहरसा एक्सप्रेस समेत सात जोड़ी ट्रेनें शामिल हैं. जानकारी अनुसार रेलवे द्वारा लिए इस फैसले के पीछे का कारण कोहरा बताया जा रहा है.

रेलवे द्वारा निरस्त की गई ट्रेनों में से तीन जोड़ी ट्रेनें जंक्शन से गुजरती हैं. बता दें कि तीन दिसंबर से 27 दिसंबर तक झांसी-कोलकाता एक्सप्रेस को निरस्त कर दिया गया है. साथ में 30 नवंबर से एक मार्च तक हटिया-आनंद विहार ट्रेन और 6 दिसंबर से एक मार्च तक सांतरागाछी-आनंद विहार भी निरस्त रहेंगी. मालूम हो कि रेलवे द्वारा किए गए बदलावों में कई ट्रेनों के फेरे भी घटाए गए हैं तो पांच ट्रेनों के समय भी बदल दिए गए हैं.

Puja Special Trains: दुर्गा, दिवाली, छठ के लिए 14 ट्रेनों में एक्स्ट्रा कोच जोड़ेगा रेलवे, पूरी लिस्ट

नई समय सारिणी जारी होने के बाद प्रयागराज जंक्शन और छिवकी से गुजरने वाली पांच ट्रेनें शामिल हैं. 13 अक्टूबर से सारनाथ अप एवं सारनाथ डाउन के समय में बदलाव होगा तो 14 अक्टूबर से इंदौर-हावड़ा, भागलपुर-सूरत, गांधीनगर-वाराणसी का समय बदल दिया जाएगा. मालूम हो कि भागलपुर-सूरत शाम 7.00-7.05 बजे और इंदौर-हावड़ा शाम 4.35-4.40 बजे छिवकी से गुजरेगी. वहीं छिवकी, सारनाथ दोपहर 12.10-12.35 बजे जंक्शन प्रयागराज जंक्शन, गांधीनगर -वाराणसी रात 8.35-8.40 बजे से चलेगी. अगर आप भी ट्रेन से सफर करते हैं तो आवश्यक है कि पहले ट्रेन की पूरी जानकारी ले लें फिर सफर करने के लिए निकलें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें