इंदौर : फंदे पर लटका 10वीं का छात्र, स्कूल पर फीस के लिए दबाव बनाने का आरोप

Smart News Team, Last updated: Tue, 1st Sep 2020, 6:22 PM IST
  • जीजा के साथ रहकर पढ़ाई करता था छात्र, स्कूल की सफाई- उसे ऑनलाइन क्लास में बैठने की तैयारी करने के लिए फोन किया था. उसने 10वीं की फीस तो भरी ही थी
प्रतीकात्मक तस्वीर 

लसूड़िया इलाके के महालक्ष्मी नगर में रहने वाले 15 साल के एक किशोर ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. वह एक निजी स्कूल में 10वीं कक्षा का छात्र था और अपने जीजा के साथ रहता था. जीजा का आरोप है कि स्कूल में फीस भरने को लेकर प्राचार्य उस पर दबाव बना रही थीं. उसे यहां तक कह दिया गया था कि फीस जमा नहीं की तो सप्लीमेंट्री की परीक्षा नहीं देने दी जाएगी और टीसी थमा देंगे. इसी के बाद से वह तनाव में आ गया था. हालांकि पुलिस ने अभी आत्महत्या के पीछे का कारण नहीं बताया है. घटना सोमवार रात साढ़े 8 बजे की है.

हरेंद्र सिंह पिता रणवीर सिंह गुर्जर मूलरूप से मुरैना का रहने वाला था. अभी वह अपने जीजा दिलीप सिंह गुर्जर के साथ महालक्ष्मी नगर में रह रहा था. माता-पिता किसान हैं परिवार में एक बड़ा भाई है. जीजा ने बताया कि वह बांबे हॉस्पिटल के पास स्थित ग्रीन फ़ील्ड स्कूल में 10वीं का छात्र था. उसकी सप्लीमेंट्री आई थी, तभी से तनाव में रह था. कुछ दिन से उसे फीस जमा करने के लिए स्कूल से लगातार फोन व मैसेज आ रहा था. उसे 7 हजार रुपए की इंस्टॉलमेंट भरनी थी. 7 अगस्त को वह 300 रुपए सप्लीमेंट्री की सितंबर माह में होने वाली परीक्षा के लिए भरकर आया था. इसके बाद भी उसकी स्कूल की मैडम ने कई बार फीस भरने के लिए कहा और चेतावनी दी कि यदि फीस जमा नहीं की तो न तो सप्लीमेंट्री की परीक्षा दे सकेगा न ही एडमिशन बना रहेगा. उसे टीसी दे दी जाएगी.

सोमवार शाम 6 बजे उसकी बहन रविशा ने 6 साल के बेटे को मामा को लाने के लिए कहा तो उसने कमरे का दरवाजा नहीं खोला. वह ऊपर आई तो कमरे से कोई जवाब नहीं आया. उसने कमरे के रोशनदान से झांका तो पंखे से उसे लटका हुआ था. बहन की चीख सुन आस-पास के लोग आए और मुझे सूचना दी. रात साढ़े 8 बजे बांबे हॉस्पिटल लेकर पहुंचे तो डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया.

वहीं, स्कूल के हेड एडमिनिस्ट्रेशन रौनक मित्तल ने कहा कि छात्र हरेंद्र की फीस को लेकर जो भी स्कूल प्रबंधन पर आरोप लगाए गए हैं, वे गलत हैं. हरेंद्र की साल भर की फीस हमारे पास जमा है. इसे 10वीं में साइंस सब्जेक्ट में सप्लीमेंट्री थी. हमारे यहां से कल ये बोलने के लिए फोन गया था कि सीबीएसई के लिए कम्पार्टमेन्ट में अपीयर होने के लिए इनरोलमेंट करवाना होता है, वह करवा ले. सप्लीमेंट्री के कंपार्टमेंट की परीक्षा के लिए 300 रुपए की फीस भी वह जमा करवा चुका था. उसे तो बस ऑनलाइन क्लास में बैठने की तैयारी रखने के लिए फोन किया था.

इस संबंध में एएसआई धर्मेंद्र सरगैय्या का कहना है कि बालक के कमरे की तलाशी ली जाएगी. कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. स्कूल प्रबंधन को बयान के लिए बुलाकर जांच करेंगे. आत्महत्या के पीछे परिजन ने स्कूल फीस के लिए परेशान करने की बात कही है.

सूचना

(आत्‍महत्‍या किसी समस्‍या का समाधान नहीं है. अगर आपको सहारे की जरूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं जिसे मदद की ज़रूरत है तो कृपया अपने नजदीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ से मिलें, या फिर अपने परिवार वालों या दोस्तों की मदद लें ) हेल्‍पलाइन नंबर: AASRA: 91-22-27546669 (24 घंटे उपलब्ध) स्‍नेहा फाउंडेशन: 91-44-24640050 (24 घंटे उपलब्ध) वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ: 1860-2662-345 और 1800-2333-330 (24 घंटे उपलब्ध) iCall: 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध: सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक) एनजीओ: 18002094353 दोपहर 12 बजे से रात 8 बजे तक उपलब्‍ध)

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें