संक्रमितों के इलाज के लिए इंदौर में 28 अस्पताल, पांच ने नहीं किया मरीज भर्ती

Smart News Team, Last updated: 06/09/2020 09:11 AM IST
  • इंदौर. संक्रमित मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराए जाने के लिए 28 अस्पतालों को चिन्हित किया गया है. आठ अस्पतालों को जिला प्रशासन ने नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. नोटिस देकर तीन दिन में जवाब दिए जाने की बात कही गई है.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर| एक ओर जहां जहां सरकार कोरोना संक्रमित मरीजों को कई सुविधाएं मुहैया करा रहे हैं. वहीं इंदौर के अस्पताल में अव्यवस्था का बोलबाला है. यहां पर अस्पताल कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती करने से घबरा रहे हैं. यह अस्पताल संक्रमित मरीजों का न को सही ढंग से उपचार कर रहे हैं और न ही उन्हें अपने अस्पताल में भर्ती कर रहे हैं. आठ अस्पतालों को जिला प्रशासन ने नोटिस जारी कर जवाब मांगा है.

इंदौर के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराए जाने के लिए 28 अस्पतालों को चिन्हित किया गया है. मगर पांच अस्पताल ऐसे हैं जिनमें अभी तक किसी भी मरीज को भर्ती नहीं किया गया. जबकि तीन अस्पतालों में नाममात्र के मरीज भर्ती किए गये हैं. ऐसे सभी आठ अस्पतालों को नोटिस जारी करते हुए तीन दिन में जवाब मांगा है.

अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि संक्रमण से बचाने के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार पूरा फोकस कर रही है. मगर अस्पताल प्रशासन इनमें लगातार लापरवाही बरत रहे हैं. यदि इसी तरह चलता रहा तो लोग अपनी जान तक गंवा सकते हैं. इसलिए जिला प्रशासन ने सख्त कदम उठाते हुए आठ अस्पतालों को नोटिस जारी किया है जिनमें वर्मा यूनियन हॉस्पिटल, गीता भवन हॉस्पिटल, शकुंतला देवी हॉस्पिटल, एसएनजी, रॉबर्ट नर्सिंग होम, यूरेका, एसएमएस एनर्जी और क्लॉथ मार्केट हॉस्पिटल है.

 

जिला प्रशासन ने अस्पतालों को नोटिस देकर जवाब मांगा है कि आखिर किन परिस्थितियों में उन लोगों द्वारा संक्रमित मरीजों का उपचार नहीं किया गया. नोटिस देकर तीन दिन में जवाब दिए जाने की बात कही गई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें