इंदौर की 56 दुकान स्ट्रीट फूड ने हवा सुधारने के लिए बढ़ाया कदम, बंद होंगे कोयले के तंदूर और भट्टियां

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 13th Dec 2021, 11:52 AM IST
  • देश में स्वच्छता के बाद अब इंदौर ने एयर क्वालिटी इंडेक्स को लेकर एक बार फिर नंबर वन बनने की तैयारी शुरू कर दी है. दरअसल, इंदौर की 56 दुकान स्ट्रीट फूड ने हवा को साफ सुथरा बनाए रखने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ा दिया है. 56 दुकान मार्केट में कोयले और लकड़ी से चलने वाली भट्टी और तंदूर का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. इसके बदले नेचुरल गैस, एलपीजी और इलेक्ट्रॉनिक कुकिंग उपकरणों का उपयोग खाना बनाने में किया जाएगा.
फाइल फोटो

इंदौर. देश में स्वच्छता के बाद अब इंदौर ने एक बार फिर नंबर वन बनने की तैयारी शुरू कर दी है. इस बार स्वच्छता सर्वेक्षण में एयर क्वालिटी इंडेक्सको लेकर है. दरअसल, इंदौर की 56 दुकान स्ट्रीट फूड ने हवा को साफ सुथरा बनाए रखने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ा दिया है. 56 दुकान मार्केट में कोयले और लकड़ी से चलने वाली भट्टी और तंदूर का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. इसके बदले नेचुरल गैस, एलपीजी और इलेक्ट्रॉनिक कुकिंग उपकरणों का उपयोग खाना बनाने में किया जाएगा. 

बता दें कि इंदौर की 56 दुकान स्ट्रीट फूड ने जीरो प्लास्टिक वेस्ट को लेकर पहले से ही काम कर रहे. वहीं अब जीरो वेस्ट की ओर कदम बढ़ा रही है. यहां पर डिशवॉशर लगाने की तैयारी है. पूरे बाजार में एक ही जैसी स्टील की प्लेट्स लोगों को खाने पीने के लिए उपलब्ध कराई जाएंगी. जिससे डिस्पोजल का उपयोग जीरो फ़ीसदी हो सके. नगर निगम की टीम ने 56 दुकान मार्केट में सभी व्यापारियों और दूकानदा को तन्दूर भट्टी में जल रहे कोयले एवं लकड़ियों से होने वाले प्रदूषण के बारे में समझाइश दी. साथ ही उन्हें तंदूर को एलपीजी गैस पर लाने के लिए अंतिम चेतावनी भी दी गई. सभी व्यापारियों ने  इसके लिए सहमति जताई है.

इंदौर के लोगों ने वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के लिए निकाला नया तरीका, साथ में कॉपी रखने की समस्या खत्म

नगर निगम को 56 दुकान व्यापारी एसोसिएशन ने  आश्वासन दिया है कि 3 दिन में कोयला और लकड़ी की भट्टियों को हटा लिया जाएगा. इसके लिए सांसद शंकर लालवानी, कलेक्टर मनीष सिंह और नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल से चर्चा के बाद हुआ.  वही व्यापारी का भी मानना हैं कि कोयला और लकड़ी का उपयोग बंद होने से शहर में एयर क्वालिटी इंडेक्स भी अच्छा होगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें