इंदौर बना ड्रग्स का क्रॉसिंग प्वॉइंट,तस्करी के लिए रेल, बस और निजी वाहन का उपयोग

Smart News Team, Last updated: Mon, 8th Feb 2021, 2:08 PM IST
  • इंदौर शहर को ड्रग्स का क्रॉसिंह प्वॉइंट बना दिया गया है. बताया जा रहा है कि यहां दूसरे राज्यों से ड्रग्स लाया जाता है और यहीं से उन्हें भेजा भी जाता है. नेचुरल से लेकर सिंथेटिक ड्रग्स तक यहां लाए जाते हैं और इनकी तस्करी की जाती है.
ड्रग (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौर में ड्रग्स से जुड़े मामले लगातार सामने आ रहे हैं. कुछ ही दिनों पहले इंदौर की पुलिस ने करोड़ों रुपयों की ड्रग्स की तस्करी के मामले में बिल्ला नाम के शख्स को गिरफ्तार किया था. इसके अलावा भी इंदौर पुलिस ड्रग्स से जुड़े लोगों की धड़पकड़ में लगी हुई है. पुलिस के मुताबिक ही इंदौर शहर को ड्रग्स का क्रॉसिंह प्वॉइंट बना दिया गया है. बताया जा रहा है कि यहां दूसरे राज्यों से ड्रग्स लाया जाता है और यहीं से उन्हें भेजा भी जाता है.

इंदौर शहर को पहले से ही ड्रग्स का क्रॉसिंह प्वॉइंट बना दिया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक पहले यहां नेचुरल ड्रग्स जैसे अफीम, कोकिन, ब्राउन शुगर और गांजी की तस्कीर की जाती थी, साथ ही इन्हें दूसरे राज्यों व शहरों में भी सप्लाई किया जाता था. लेकिन अब यह शहर सिंथेटिक्स ड्रग्स का भी केंद्र बन चुका है. बताया जा रहा है कि मंदसौर, नीमच और राजस्थान के बॉर्डर से जुड़े अन्य क्षेत्रों में अफीम की खेती होती है, जिससे इंदौर तक भी माल लाया जाता था.

MPPEB ग्रुप 2 सब ग्रुप 4 एग्जाम 2020 की आंसर की जारी, ऐसे करें डाउनलोड

रिपोर्ट के ही मुताबिक प्रदेश में गांजा जहां उड़ीसा और आंध प्रदेश से आता है तो वहीं मंदसौर नीमच से नेचरल ड्रग्स यहां लाए जाते हैं. अब तक की पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि तस्कर रेल और निजी वाहनों के जरिए यहां तस्करी किया करते हैं. इतना ही नहीं, जबकि निजी बसों में भी कोरियर के माध्यम से भी ड्रग्स की तस्करी की जाती है. अब पुलिस इन मार्गों पर भी नजर रखे हुए है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें