इंदौर: बस संचालकों ने की शिवराज सरकार से किराया बढ़ाने की मांग

Smart News Team, Last updated: 04/09/2020 07:58 AM IST
  • इंदौर में बस स्वामियों द्वारा डीजल के दाम और टोल दरों में बढ़ोतरी को देख सरकार से 60 प्रतिशत किराया बढ़ाने की हुई मांग. कोरोना काल मे टैक्स माफी की मांग के चलते नहीं चल रहीं बसें.
इंदौर बस

देश के डीजल के दाम और टोल दरों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. जिसके चलते इंदौर में निजी बसों के स्वामियों ने शिवराज सरकार से बसों के कराए में 60 प्रतिशत तक बढ़ोत्तरी करने की मांग की है. ज्ञात हो कि इनके द्वारा कोरोना काल का टैक्स माफ करने की मांग भी की जा रही है, इसलिए अभी तक बसों का संचालन शुरू नहीं किया गया है.

प्राइम रूट बस आनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने कहा कि विगत एक सितंबर से प्रदेश के सभी टोल नाकों पर सात फीसद टोल टैक्स बढ़ा दिए गए हैं, जिससे सभी प्रकार के वाहन स्वामियों पर अतिरिक्त भार बढ़ गया है. 

ये वाहन स्वामी अब काफी कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं. उधर, परिवहन विभाग के किराया बोर्ड ने वर्ष 2018 में आठ पैसा बस यात्री किराया बढ़ाया था. तब से अब तक डीजल के भाव 25 रुपये बढ़ गए हैं. इसलिए हम सरकार से किराया बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बसें नहीं चलाने से यात्री परेशान हो रहे हैं. हम सभी भी चाहते हैं कि बस सुविधा शुरू हो.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें