इंदौर: कोविड कर्मचारियों को 5 माह से वेतन नहीं, अस्पताल का गेट बंदकर जताया विरोध

Smart News Team, Last updated: 07/09/2020 08:31 PM IST
  • कोरोना संकट के बीच जान जोखिम में डालकर काम कर रहे एमआरटी टीवी हॉस्पिटल के कर्मचारियों का टूटा सब्र. काम बंदकर हॉस्पिटल के बाहर का रास्ता रोका.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर| कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में जहां लोग सर्दी खांसी वाले लोगों से तुरंत दूरी बना लेते हैं कि कहीं उसे कोरोना तो नहीं हुआ. ऐसे में अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना मरीजों के बीच निरन्तर अपनी सेवाएं दे रहे कर्मचारियों को 5 महीने से कोई भुगतान नहीं किया गया है. इससे गुस्साए कर्मचारियों ने काम बंदकर अस्पताल का रास्ता रोका और 5 महीने का बकाया वेतन भुगतान करने की मांग की.

 दरहसल, यह मामला है एमआरटीबी हॉस्पिटल का है, जहां कर्मचारियों को 5 महीने से उनके वेतन का भुगतान नहीं किया गया है. वेतन का इंतजार करते करते जब कर्मचारियों के सब्र का बांध टूट गया तो उन्होंने काम बंद कर दिया और हॉस्पिटल के बाहर रास्ता रोककर वेतन की मांग करने लगे. कर्मचारियों को कहना है कि वे मार्च से काम कर रहे हैं, लेकिन अभी तक उन्हें वेतन का भुगतान नहीं किया गया है. वे लोग घर का किराया तक देने में असमर्थ हैं. उनके लिए रोजाना का खर्चा चलाना भी मुश्किल हो गया है। 

कर्मचारियों ने सुपरवाइजर को भी कई बार वेतन के लिए कहा है, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। सुपरवाइजर हर बार एक दो दिन में भुगतान करने की बात कहकर टाल देते हैं. वेतनाभाव से जूझ रहे कर्मचारियों को जब कोई रास्ता नहीं दिखा तो वे काम बंदकर रास्ता रोकने पर मजबूर हो गए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें