इंदौर:प्रशासन ने निजी अस्पतालों पर कसी लगाम,प्लाज्मा थेरेपी के दर किए निर्धारित

Smart News Team, Last updated: Mon, 10th May 2021, 11:08 PM IST
  • इंदौर में प्राइवेट अस्पतालों से प्लाज्मा थेरेपी के दर पर चर्चा की गई . मंत्री जी के साथ - साथ अफसरों ने भी इसमें भाग लिया . सबकी सहमती से प्लाज्मा थेरेपी की रेट तय की गई और साथ ही साथ ये भी हिदायत दी गई की इस रेट से ऊपर चार्ज करने वाले अस्पतालों पर कार्रवाई भी की जाएगी .
प्रतिकात्मक तस्वीर 

इंदौर. मध्यप्रदेश के कोविड हॉट स्पॉट बन चुके इंदौर में कालाबाजारी के अलावा निजी अस्पतालों द्वारा वसूले जा रहे मनमाने बिलों  के मामले सामने आ रहे है। इसी के चलते अस्पतालों  द्वारा प्लाज्मा थेरेपी के लिए भी अलग - अलग दर के हिसाब से मरीजो से रुपये लिए जा रहे थे और इस बात की शिकायत प्रशासन को समय समय पर मिल रही थी। ये ही वजह है कि सोमवार को ब्लड प्लाजमा थेरेपी को लेकर मंत्री तुलसी सिलावट और संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने  निजी अस्पतालों के प्रमुखों की बैठक ली। बैठक में निजी अस्पतालों की सलाह के बाद प्रशासन ने प्लाज्मा थेरेपी की दर को निर्धारित कर दिया .अब से कोई भी निजी अस्पताल किसी भी मरीज से प्लाज्मा थेरेपी के लिए 11 हजार रुपये से ज्यादा बिल के रूप में नही वसूल सकेगा . वही यदि इससे अधिक राशि वसूलने की शिकायत मिलेगी तो ऐसे अस्पताल पर प्रशासन कार्रवाई भी करेगा।

 

सोमवार को इंदौर की रेसीडेंसी कोठी में आयोजित बैठक के बाद कमिश्नर इंदौर डॉ. पवन कुमार शर्मा ने बताया कि कोरोना के इलाज में प्लाज्मा एक कारगर दवाई मानी जा सकती है . अभी ऐसी शिकायते भी प्राप्त हो रही थी कि अलग - अलग अस्पताल प्लाज्मा के लिए अलग - अलग रेट चार्ज कर रहे है . उन्होंने बताया कि शिकायत में ये बात सामने आई थी कि कोई अस्पताल 25 हजार चार्ज कर रहा है तो कोई 15 हजार चार्ज कर रहा है . आज इसी के चलते मंत्री तुलसी सिलावट के निर्देश पर सभी प्रायवेट हॉस्पिटल से चर्चा की गई और सभी प्राइवेट हॉस्पिटल की सहमति के बाद प्लाज्मा थैरेपी के लिए 11 हजार का रेट तय किया गया है। संभागायुक्त डॉ. शर्मा ने बताया कि इस कदम से मरीजो को बहुत राहत मिलेगी . उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पताल में निशुल्क प्लाज़्मा थेरेपी दी जाती है वही प्रायवेट हॉस्पिटल को 9500 रुपये में प्लाज्मा दिया जाता है और आगे निर्णय लेकर इस रेट को भी कम किया जाएगा .

इंदौर में नकली रेमडेसिविर बेचने वाले गिरोह के खिलाफ पुलिस का सख्त एक्शन

प्रशासन के इस कदम के बाद अब उन मरीजो को थोड़ी राहत मिलेगी जो प्लाज्मा थेरेपी के जरिये अपना अनमोल जीवन स्वस्थ्य होकर बिताना चाहते है क्योंकि ब्लड प्लाज्मा उस वक्त मरीजों की जान बचा सकता है जब उनके जीने की उम्मीदें कम हो जाती है .

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें