इंदौर: कोरोना के चलते एमवाय अस्पताल खाली, नहीं हो रहा सामान्य मरीजों का उपचार

Smart News Team, Last updated: 17/09/2020 04:13 PM IST
  • इंदौर के एमवाय अस्पताल के कई वार्ड खाली पड़े हुए हैं. सामान्य दिनों में अस्पताल में डेढ़ हजार मरीज लगभग भर्ती रहते थे. वर्तमान में सिर्फ गंभीर मरीजों का इलाज किया जा रहा है.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर। वर्तमान में कोरोना संक्रमण काल चल रहा है. जिसके कारण अस्पतालों में सामान्य मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है. इसी वजह से इंदौर के एमवाय अस्पताल के कई वार्ड खाली पड़े हुए हैं. सामान्य दिनों में अस्पताल में डेढ़ हजार मरीज लगभग भर्ती रहते थे. मगर इन दिनों अस्पताल के वार्ड खाली पड़े हुए हैं. वजह है कि वर्तमान में सिर्फ गंभीर मरीजों का इलाज किया जा रहा है. सामान्य बीमारी के मरीजों को लौटा दिया जाता है. जिसके कारण निजी अस्पतालों में मरीजों की भरमार बनी हुई है.

इस संबंध में अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि जल्द ही चाचा नेहरू अस्पताल और कैंसर अस्पताल को कोविड अस्पताल के रूप में चिन्हित किया जाएगा. इसके बाद दोनों अस्पतालों में मरीजों को एमवाय अस्पताल शिफ्ट कर दिया जाएगा. मगर यह कब होगा इसका पता नहीं. साढ़े 5 माह से शासन यह बात कर रहा है. मगर इन दोनों अस्पतालों को कोविड सेंटर के रूप में चिन्हित नहीं किया गया और न ही एमवाय अस्पताल में दूसरी बीमारी के मरीजों का उपचार किया जा रहा है. सरकारी अव्यवस्था का खामियाजा आम मरीज भुगत रहे हैं.

इंदौर: हाइटेक ट्रैक का निकला दम, अधिकारियों ने रद्द किया ट्रायल

इस संबंध में अधीक्षक एमवाय अस्पताल डॉक्टर पीएस ठाकुर ने बताया कि फिलहाल हम किसी गंभीर मरीज को ही भर्ती कर रहे हैं. चाचा नेहरू और कैंसर अस्पताल को कोविड सेंटर बनने के बाद वहां के मरीज भी एमवाय अस्पताल लाए जाएंगे. एमवाय अस्पताल में भी मरीजों का उपचार किया जा सकेगा. वर्तमान में इसके बेड खाली चल रहे हैं जिसकी पूर्ति शिफ्ट मरीजों से हो जाएगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें