इंदौर: परीक्षा तिथि तय नहीं, कॉलेज ने एडवांस परीक्षा फीस पर वसूले 2.86 करोड़

Smart News Team, Last updated: 28/08/2020 02:07 PM IST
  • इंदौर. उच्च शिक्षा विभाग और डीएवीवी की ओर से अब तक कोई शेड्यूल जारी नहीं होने के बावजूद प्रेस्टीज कॉलेज ने विद्यार्थियों से परीक्षा फॉर्म भरवाए बिना ही वसूल ली फीस
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर : कोरोना काल के इस दौर में भले ही प्रदेशभर के कॉलेजों में परीक्षाओं की तिथि तय नहीं है, लेकिन कॉलेज एडवांस परीक्षा शुल्क वसूलने में जुट गए हैं. यूजीजी से लेकर प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग और डीएवीवी ने अब तक परीक्षा को लेकर कोई शेड्यूल जारी नहीं किया है. इसके बावजूद प्रेस्टीज कॉलेज ने अपने 13 हजार से ज्यादा विद्यार्थियों से परीक्षा फॉर्म भरवाए बिना ही एडवांस परीक्षा फीस वसूल ली. कॉलेज ने विद्यार्थी से 2 करोड़ 86 लाख रुपए वसूल लिए. कॉलेज प्रबंधन ने विद्यार्थियों से बस फीस भी ली, जबकि कोरोना के कारण बसें चल ही नहीं रही हैं.

इंस्टिट्यूट से एलएलबी की पढ़ाई कर रहे कुछ छात्रों ने बताया कि प्रेस्टीज लॉ इंस्टिट्यूट के 830 विद्यार्थियों से 2200 रुपए के हिसाब से एडवांस परीक्षा फीस के नाम पर पेटीएम अकाउंट में जमा करवा लिए गए, जबकि विद्यार्थियों से परीक्षा फॉर्म भी नहीं भरवाया गया है. उन्हें कहा गया है कि आने वाले समय में परीक्षा की जैसी स्थिति बनेगी, उसके मुताबिक निर्णय लिया जाएगा.

प्रेस्टीज ग्रुप के सभी स्कूल और कॉलेजों के विद्यार्थयों से ड्राइवर-कंडक्टर का वेतन देने और बसों का खर्चा निकालने के लिए बस फीस भी ली गई है. हालांकि आधे से ज्यादा ड्राइवर और कंडक्टरों को नौकरी से निकाल दिया है.

वहीं, प्रेस्टीज इंस्टिट्यूट की डायरेक्टर योगेश्वरी पाठक का कहना है कि अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा होनी है. बाकी कक्षाओं के लिए रिजल्ट और मार्कशीट बनाने का काम होगा, इसलिए उनकी परीक्षा फीस ली गई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें