इंदौर: पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने पुलिस प्रशासन को दी खुली धमकी

Smart News Team, Last updated: 04/09/2020 08:44 AM IST
  • पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने पुलिस प्रशासन से कहा कि गुड्डू की चक्की बहुत बारीक आटा पीसती है, सांवेर में कांग्रेस नेता प्रेमचंद गुड्डू के चुनाव कार्यालय के उद्घाटन के दौरान लॉकडाउन का उल्लंघन किए जाने पर दर्ज किया था मुकदमा .
पूर्व मंत्री जीतू पटवारी 

इंदौर। इंदौर में पुलिस प्रशासन द्वारा कांग्रेस नेताओं पर मुकदमे दर्ज किए जाने पर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने खुली धमकी दी है. पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने खुलेआम धमकी देते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन यह समझ ले कि गुड्डू की चक्की आटा बहुत बारीक पीसती है. पूर्व मंत्री ने कहा कि जिन कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने चुनाव में मदद करते हुए तुलसी सिलावट को जीत दिलवाई थी. आज वह भाजपा से मिल गए हैं.

भाजपा से मिलते ही उन्होंने अपने तेवर दिखाते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर मुकदमे दर्ज करवाने शुरू कर दिए हैं. इसका परिणाम उन्हें भुगतना होगा. आने वाले विधानसभा चुनाव में तुलसी सिलावट को यही कार्यकर्ता 20,000 से अधिक वोटों से हराएंगे.

पटवारी ने कहा कि तुलसी सिलावट के इशारे पर ही पुलिस कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर मुकदमे दर्ज कर रही है. बता दें कि मंगलवार को सांवेर विधानसभा में कांग्रेस नेता प्रेमचंद गुड्डू के चुनाव कार्यालय के उद्घाटन पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किए जाने व भीड़ इकट्ठा किए जाने के मामले में पुलिस ने कांग्रेसियों पर कार्यवाही करते हुए 34 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.

इस दौरान पुलिस ने कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी. इसी मामले को लेकर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी पुलिस की कार्यप्रणाली से नाखुश दिखे.उन्होंने पुलिस प्रशासन को धमकी देते हुए कहा कि यह सरकार मात्र 42 दिन की है. सिलावट 7 से 8 दिन के और मेहमान बचे हैं. जल्द ही सत्ता परिवर्तन होने वाला है.

 

इस दौरान उन्होंने कहा कि जनता और किसान भाजपा की सरकार से त्रस्त है. सांवेर के किसानों को 40000 रुपये प्रति हेक्टेयर मुआवजा दिए जाने की अपील भी की.उन्होंने कहा कि सिलावट मंत्री रहते हुए अगर यह काम करवा दें तभी यहां की जनता के लिए वह मंत्री कहे जाएंगे. वरना उनका मंत्री होना बेकार है. उन्होंने कहा किसानों के बिजली के बिल माफ किए जाएं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें