इंदौर: हाइटेक ट्रैक का निकला दम, अधिकारियों ने रद्द किया ट्रायल

Smart News Team, Last updated: 17/09/2020 02:59 PM IST
  • इंदौर. प्रदेश के आधुनिकतम हाइटेक ट्रायल ट्रैक पर इस वर्ष तीसरी बार पानी भरा है. इससे सही ट्रायल देने वाले लोग भी लगातार फेल हो रहे हैं. एक नोटिस भी चिपकाया गया था जिस पर लिखा गया था कि सेंसर खराब होने व फेल होने की जवाबदेही आवेदक की होगी. 
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर। ट्रायल ट्रैक पर आये दिन पानी भरने से विभाग की परेशानी बढ़ती जा रही है. जिससे सेंसर ख़राब हो गये हैं. आरटीओ में बना हाइटेक ट्रायल ट्रैक एक बार फिर से पानी में डूब गया है. प्रदेश के आधुनिकतम हाइटेक ट्रायल ट्रैक पर इस वर्ष तीसरी बार पानी भरा है. पिछली बार लगातार आठ दिनों तक इसका पानी खाली नहीं हो पाया था. इससे सही ट्रायल देने वाले लोग भी लगातार फेल हो रहे हैं. इस बारे में एक नोटिस भी चिपकाया गया था जिस पर लिखा गया था कि सेंसर खराब होने व फेल होने की जवाबदारी आवेदक की होगी. जब इसका विरोध हुआ तो इस नोटिस को हटा दिया गया.

सुबह जब आरटीओ कार्यालय खुला तो फिर ट्रैक पर पानी भरा मिला. अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई और ट्रायल को भी निरस्त कर दिया गया. इस बार भी पास के तालाब की पाल फूटने से यह दिक्कत हुई. वहां का पानी रिसकर ट्रैक पर जमा हो गया. दो सप्ताह पहले भी इसी कारण सात दिनों तक ट्रायल नहीं हो पाए थे. जैसे- तैसे ट्रायल शुरू हुए थे मगर फिर से पानी भरने के बाद काम बंद हो गया.

इंदौर: कोर्ट ने कहा ताजिए में शामिल होना अपराध नहीं, पढ़ें पूरी ख़बर

ट्रैक पर लगातार पानी भरने से यहां पर लगे सेंसर खराब हो गए हैं. स्मार्टचिप कंपनी के ऑपरेटरों ने एक नोटिस चिपका दिया था कि ट्रैक पर पानी भरने सेंसर खराब हो गए हैं. उन्होंने यह भी बताया कि जो लोग टेस्ट में फ़ैल हो रहे है इस पर विभाग कई जिम्मेदारी नही होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें