इंदौर: 2 माह की बच्ची को बेच रहे थे मानव तस्कर, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 04:07 PM IST
  • इंदौर के शिवपुरी स्थित सिमरोल गांव की मूक-बधिर है युवती, घर वालों ने चोरी-छिपे करवाई थी युवती की डिलीवरी.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर। इंदौर के शिवपुरी क्षेत्र की सिमरोल गांव की अविवाहित मूक-बधिर युवती की डिलीवरी किए जाने व बच्चे को बेचने के आरोप में मानव तस्कर गैंग को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. पुलिस ने मानव तस्करों को हिरासत में लेकर कई घंटे तक पूछताछ की. पूछताछ के दौरान कई अहम खुलासे हुए.

मानव तस्करी करने वाले गैंग का पुलिस ने भंडाफोड़ करते हुए खुलासा कर दिया. इस दौरान पुलिस ने 6 आरोपियों सहित मानव तस्करी कांड के मुख्य आरोपी बबलू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इस दौरान पुलिस ने सभी आरोपियों से अलग-अलग बातचीत किया. हिरासत में लिए जाने के बाद पुलिस की जांच पड़ताल में कई खुलासे हुए पुलिस सभी के तार को जोड़ते हुए केस की छानबीन कर रही है. दरअसल शिवपुरी क्षेत्र के सिमरोल गांव की एक अविवाहित मूकबधिर युवती थी.

वह पूर्ण रूप से स्वस्थ थी. युवती मूक बधिर है लेकिन विक्षिप्त नहीं है. युवती का गांव में ही किसी से प्रेम संबंध था. जिसके बाद युवती गर्भवती हो गई. इस दौरान घरवालों ने चोरी-छिपे युवती की डिलीवरी करवा दी. 2 माह की बच्ची को बेचने के लिए मानव तस्कर गिरोह जुट गया जिसकी जानकारी होने पर पुलिस ने मानव तस्कर गिरोह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

इंदौर क्राइम ब्रांच की कामयाबी, ऑनलाइन ठगी के शिकार लोगों को वापस दिलाए 3.40 लाख

इसमें मानव तस्करी करने वाले गिरोह के मुख्य सरगना बबलू को पुलिस ने पहले गिरफ्तार किया. इसके बाद पूछताछ में उसकी पत्नी व नर्स शिल्पा को भी गिरफ्तार कर लिया. इन दोनों से लगातार कई घंटे पूछताछ के बाद मामले का खुलासा हुआ जिसके बाद पुलिस ने रीत ठाकरे, करुणा अस्पताल के रिसेप्शनिस्ट अमित हाड़ा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

पुलिस अभी भी घटना से जुड़े तार की गुत्थी सुलझाने में लगी हुई है. पुलिस को आशंका है कि मानव तस्कर गिरोह में और कई बड़े लोग शामिल हो सकते हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें