इंदौर: वाह रे स्वास्थ्य विभाग: इंदौर में मरने के बाद भी शवों की हो रही दुर्गति

Smart News Team, Last updated: Tue, 22nd Sep 2020, 6:17 PM IST
  • इंदौर. पूर्व सीएम कमलनाथ ने शवों के साथ हो रही बदसलूकी को लेकर ट्वीट कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर साधा निशाना. जब वह लोग दोपहर 12 बजे अस्पताल पहुंचे तो उन्होंने शव को कई जगह चूहों द्वारा कुतरा हुआ पाया.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर| इंदौर में स्वास्थ्य विभाग की अनदेखी और लापरवाही से मरीजों के साथ साथ अब मरने के बाद शवों को भी दुर्गति का शिकार होना पड़ रहा है. इसकी हकीकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वहां की बदहाल हो चुकी स्वास्थ्य सेवाओं के चलते एमवाय मर्चुरी में पांच दिन से एक बॉक्स में बच्चे का शव पड़ा रहा. यही नहीं कोरोना मरीजों की मौत के बाद उनके परिजनों को बिना बताए ही शवों को रूम में रखवा देना तथा शवों का कंकाल में तब्दील हो जाना.

अमानवीयता की पराकाष्ठा तो तब हो गई जब यूनिक अस्पताल में एक कोविड मरीज के शव को चूहों ने कुतर कर क्षत विक्षत कर डाला. वही एम टी एच अस्पताल में एक मरीज की मौत हो जाने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर इंदौर की ध्वस्त हो चुकी स्वास्थ्य सेवाओं पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर सवाल खड़े कर दिए. अपने ट्वीट में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने चिंता जाहिर करते हुए कहा मुख्यमंत्री शिवराज जी यह आपके सपनों के शहर इंदौर में क्या हो रहा है न जीवित इंसान सुरक्षित है और न ही शव.

कहा कि मानवता को शर्मसार कर रही इन घटनाओं से मृतकों की परिवारों की भावनाएं भी दम तोड़ रही हैं. इंसानियत और मानवता तार-तार हो रही है. उन्होंने स्वास्थ्य सेवाओं की खस्ताहाल हालत को लेकर मध्य प्रदेश सरकार से कड़ा निर्णय लेते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है.

इंदौर: अमीर बनने के चक्कर में चुना एटीएम से चोरी करने का रास्ता

बताते चलें कि इतवारिया बाजार के रहने वाले नवीन चंद्र जैन (87 साल) को सांस लेने में हो रही दिक्कत के चलते 17 सितंबर को यूनिक अस्पताल मैं भर्ती कराया गया था. परिजनों ने बताया की बुजुर्ग का कोविड वार्ड में इलाज चल रहा था. रविवार रात लगभग तीन बजे बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया. जिस पर अस्पताल प्रशासन ने परिजनों को सूचना दी साथ ही बताया कि निगम की गाड़ी उन्हें अंतिम संस्कार के लिए लेकर जाएगी.

इसके बाद जब वह लोग दोपहर 12 बजे अस्पताल पहुंचे तो उन्होंने शब को कई जगह चूहों द्वारा कुतरा हुआ पाया. परिजनों का कहना है कि जब उन्होंने अस्पताल प्रशासन से आपत्ति दर्ज कराई तो अस्पताल प्रशासन ने यह कहकर हमसे गलती हो गई अपना पल्ला झाड़ लिया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें