इंदौर-मथुरा बस हादसा: शराब के नशे में था बस चालक, परिवार के समझाने पर भी नहीं मानी बातें

Haimendra Singh, Last updated: Sat, 6th Nov 2021, 9:22 AM IST
  • परिवार के अनुसार, हादसे के समय बस चालक नितेश शराब के नशे में था, परिवार के कुछ लोगों की इसको लेकर नितेश से बहस भी हुई थी, लेकिन परिवार के अन्य लोगों के समझाने के बाद पूरे परिवार ने मथुरा ही चलने का फैसला किया. बता दें कि इस हादसे में 3 बच्चों की मौत हो गई थी.
इंदौर मथुरा बस हादसे में शराब के नशे में था बस चालक.( सांकेतिक फोटो )

इंदौर. मध्यप्रदेश के इंदौर सड़क हादसे में तीन लोगों के जिंदा जलने के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. परिवार के अनुसार, हादसे के समय बस चालक शराब के नशे में था जिसको लेकर परिवार कि उससे बहस भी हुई थी, लेकिन परिवार के अन्य लोगों के समझाने के बाद ड्राइवर ने बस को सावधानी से चलाने की बात कही. परिवार ने ड्राइवर की हरकत देखकर इंदौर वापस जाने के भी फैसला किया था लेकिन परिवार के ही कुछ लोग इस बात पर राजी नहीं हुए. बता दें, कि शुक्रवार को एक मिनी बस सड़क किनारे खड़े कंटेनर से जा टकराई, जिसमें परिवार के तीन बच्चों की जिंदा जलने से मौत हो गई.

गोवर्धन पूजा के दिन इंदौर के प्रवीण शर्मा अपने रिश्तेदार जगदीश शर्मा, सुभाष शर्मा, शुभम शर्मा, जगदीश और अशोक शर्मा के परिवार के साथ 7 दिनों की राजस्थान और मथुरा की यात्रा पर निकले थे. मिनी बस में 7 परिवारों के 28 लोग सवार थे. परिवार के अनुसार, दीपावली की रात जब परिवार के सब लोग बस लेकर यात्रा पर निकले थे तो बस का चालक शराब के नशे में थे. परिवार के लोगों ने कहा, कि घर से निकले के बाद से ही ड्राइवर नितेश तेज गति से बस को चला रहा था और सड़क पर आने वाले गड्ढों पर भी ध्यान नहीं दे रहा था. इस बात को लेकर परिवार और बस चालक में बहस भी हुई और परिवार के कुछ लोगों ने वापस इंदौर लोटने का फैसला किया, लेकिन परिवार के अन्य लोग नहीं माने. उन्होंने बस का समझाया और फिर से बस को लेकर चल दिए.

इंदौर: गोवर्धन पूजा के लिए मथुरा जा रही श्रद्धालुओं की मिनी बस कंटेनर से टकराई, जिंदा जलने से तीन लोग की मौत

परिवार के समझाने पर नहीं माना बस चालक

ड्राइवर की हरकत देखकर परिवार ने बस चालक को समझाया, लेकिन वह लगातार बस को तेज गति से चल रहा था. इसको लेकर परिवार ने देवास में किसी से बस चालक की शिकायत भी की थी. उस समय चालक ने कहा कि वह अब बस को तेज नहीं चलायेगा. लेकिन के ढाबे पर चाय पीने के बाद वह फिर से तेज गति से वाहन चलाने लगा. आखिरकार गुना के चाचौड़ा के बरखेड़ा के पास सड़क किनारे खड़े कंटेनर से बस भिड़ गई, जिससे बस में आग लगने से तीन लोगों की जान चली गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें