शाखों से टूट जाएं वो पत्ते नहीं… कहने वाले राहत इंदौरी का निधन

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 06:36 PM IST
  • उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से के निधन. मंगलवार को खुद ट्वीट करके कोरोना पॉजिटिव होने की खबर दी थी.
उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन.

इंदौर के अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से मशहूर उर्दू शायर राहत इंदौरी का निधन हो गया. मंगलवार को शाम 4.40 पर इंदौर के अरविंदो अस्पताल में उन्होनें अंतिम सांस ली. डॉक्टर ने उनकी मौत की पुष्टि की है. मंगलवार की सुबह खुद उन्होनें ट्वीट करके कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी.

राहत इंदौरी ने अपनी शायरी से सभी वर्ग के लोगों में अपनी पहचान बनाई थी. उनके जाने के बाद कुछ प्रमुख शायरियों से उन्हें याद किया जा सकता है.

- शाखों से टूट जाएं वो पत्ते नहीं हैं हम,

आंधी से कोई कह दे कि औकात में रहे

- रोज पत्थर की हिमायत में गजल लिखते हैं,

रोज शीशों से कोई काम निकल पड़ता है. 

मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, कोरोना पॉजिटिव भी थे

- मैनें अपनी खुश्क आंखों से लहू छलका दिया,

इक संदर कह रहा था मुझको पानी चाहिए.  

राहत इंदौरी: स्पोर्ट्स कैप्टन से बने बोर्ड पेंटर, 19 साल की उम्र में बने शायर

- बहुत गुरूर है दरिया को अपने होने पर

जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियां उड़ जाएं.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें