इंदौर: अमीर बनने के चक्कर में चुना एटीएम से चोरी करने का रास्ता

Smart News Team, Last updated: 22/09/2020 03:50 PM IST
  • इंदौर. पुलिस ने गत दिवस सफलता अर्जित कर ली और दो लोगों को एटीएम से रुपए चुराए जाने के मामले में हिरासत में लिया है. आरोपी राहुल जैन ने यह कबूल किया है कि वह कुछ दिनों पहले उसकी नौकरी भी चली गई.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर. गत दिनों इंदौर क्षेत्र में एटीएम तोड़कर चोरी करने के मामले प्रकाश में आए थे. जिसमें पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए आरोपियों तक शीघ्र पहुंचने के प्रयास में लगी हुई थी. जिसमें पुलिस ने गत दिवस सफलता अर्जित कर ली और दो लोगों को एटीएम से रुपए चुराए जाने के मामले में हिरासत में लिया है. पुलिस ने दोनों लोगों को 4 दिन की रिमांड पर लिया है.

लसूड़िया पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया की जिन एटीएम में पासवर्ड, मैसेज अलर्ट, सीसीटीवी कैमरे और गार्ड की व्यवस्था नहीं रहती थी उन एटीएम को खोल कर चोरी करने के एक आरोपी राहुल जैन ने यह कबूल किया है कि वह जिस समाज से है उसमें लगभग सभी लोग संपन्न होते हैं.

कुछ दिनों पहले उसकी नौकरी भी चली गई. उम्र 34 साल हो गई इसलिए कोई उससे शादी भी नहीं करना चाहता है. इसलिए उसने जल्दी पैसा कमाने के चक्कर में एटीएम में चोरी करने का रास्ता चुन लिया. पुलिस अब आरोपियों से भोपाल, रीवा, शहडोल और सिंगरौली में हुई एटीएम चोरी के बारे में पड़ताल कर रही है. पता चला है कि आरोपियों ने चोरी के पैसों को गोल्ड में निवेश किया है. इसके अलावा कुछ लोगों को ब्याज पर रुपए दे रखे हैं.

आरोपी राहुल जैन और दिलीप भदोरिया एटीएम में पैसा डालने वाले कस्टोडियन भी रह चुके हैं. पुलिस एटीएम चोरों तक कैसे पहुंची यह एक बड़ा मामला है. पुलिस ने बताया कि शक के आधार पर कांस्टेबल धीरेंद्र, सुरेंद्र यादव, अंकुश और प्रदीत भदोरिया ने सादी वर्दी में इनकी रेकी की तो यह पूरा मामला प्रकाश में आया. जिससे यह एटीएम लूट कांड का खुलासा पुलिस कर सकी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें