इंदौर: आपस में भिड़े पुलिसकर्मी व निगमकर्मी, पुलिसकर्मी को निलंबित करने की मांग

Smart News Team, Last updated: 17/09/2020 03:53 PM IST
  • इंदौर. निगमकर्मी ने मास्क न लगाने वाले पुलिसकर्मी को रोका था. दोनों के बीच कहा सूनी हुई जिसके बाद निगमकर्मी पर दरोगा ने केस दर्ज कर थाने में बंद करा दिया. समाज के लोगों ने दरोगा पर पुलिस द्वारा की कार्रवाई को वापस लेने की मांग की.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर। मूसाखेड़ी चौराहे पर नगर निगम की टीम और पुलिस जवान के बीच मास्क न लगाने को लेकर हुआ विवाद थाने पहुंच गया. पुलिसकर्मी ने मामले की शिकायत थाने में की थी. इसी के विरोध में वाल्मीकि समाज के लोगों ने आईजी विवेक शर्मा से मुलाकात करने के लिए उनके दफ्तर पहुंचे. जहां उन्होंने ज्ञापन देकर निगमकर्मी पर दर्ज केस को वापस लेने और पुलिसकर्मी को निलंबित करने की मांग की साथ ही कहा कि ऐसा न करने पर मुख्यमंत्री से इसकी शिकायत की जायेगी.

इस सम्बन्ध में समाज के प्रताप करोसिया का कहना था कि निगमकर्मी ने मास्क न लगाने वाले पुलिसकर्मी को रोका था. इस पर पुलिसकर्मी उससे अपशब्द कहने लगा. दोनों के बीच कहा सूनी हुई जिसके बाद निगमकर्मी पर दरोगा ने केस दर्ज कर थाने में बंद करा दिया. बताया कि निगम का दरोगा प्रशासन के आदेश का पालन कर रहा था. इस घटना से वाल्मीकि समाज में रोष है. समाज के लोगों ने दरोगा पर पुलिस द्वारा की कार्रवाई को वापस लेने की मांग की. उन लोगों ने मांग की कि पुलिसकर्मी को निलंबित किया जाए. यदि ऐसा न किया गया तो इसकी शिकयत 26 सितंबर को मुख्यमंत्री से की जाएगी.

बताते चलें कि मूसाखेड़ी चौराहे पर नगर निगम की टीम मास्क न पहनने वालों के खिलाफ चालान काटने की कार्रवाई कर रही थी. इसी बीच पुलिस की डीआरपी लाइन शाखा का हेड कांस्टेबल सईद खान एक्टिवा से गुजरे और मास्क न होने पर निगमकर्मी ने उन्हें रोका. जिस पर हेड कांस्टेबल सईद ने निगम के कर्मी से बदसलूकी कर दी. जब निगमकर्मी ने ठीक से बात करने को कहा तो दोनों में कहासुनी और गाली-गलौज हो गई. इस पर निगमकर्मी ने वर्दीधारी हेड कांस्टेबल को धक्का दे दिया. बाद में सहकर्मियों ने पुलिस जवान की गाड़ी की चाबी निकाल ली.

इंदौर: हाइटेक ट्रैक का निकला दम, अधिकारियों ने रद्द किया ट्रायल

मामले में हेड कांस्टेबल ने आजाद नगर पुलिस को निगम कर्मी के खिलाफ मारपीट, गाली-गलौज का मुकदमा दर्ज कराया है. मामले की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर बेसाखु धुर्वे ने बताया कि निगमकर्मी की तलाश और पहचान की जा रही है. वीडियो के आधार पर बदसलूकी सही पाए जाने पर मामले में केस दर्ज किया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें