इंदौर पुलिस ने पेश की मिसाल, बीच रास्ते फंसे लोगों आश्रय तक पहुँचाने में मदद की

Smart News Team, Last updated: Mon, 1st Feb 2021, 5:22 PM IST
  • इंदौर पुलिस ने एक ऐसे परिवार को आश्रय तक पहुँचाने में उनकी मदद की जिनका वाहन शिरडी से ग्वालियर लौटते वक्त रास्ते में टूट गयी थी.
इंदौर पुलिस ने पेश की मिसाल, बीच रास्ते फंसे लोगों आश्रय तक पहुँचाने में मदद की

इंदौर: इंदौर पुलिस के फास्ट रिस्पांस व्हीकल (डायल 100) के कर्मचारियों ने एक ऐसे परिवार के लिए अच्छा उदाहरण उनकी मदद कर स्थापित किया, जो शुक्रवार को शिरडी से ग्वालियर लौट रहे थे और उनकी कार इंदौर में छिन्न भिन्न हो गई. पुलिस के डायल 100 के कर्मचारियों ने न केवल परिवार को एक सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया बल्कि अपने वाहन से होटल तक भी भिजवाया.

इनकी कार सुनसान रास्ते पर इंदौर में खराब हुई तो मदद के लिए इन में से एक व्यक्ति ने भोपाल स्थित राज्य-स्तरीय पुलिस नियंत्रण कक्ष को सूचित कर मदद मांगी और कहा कि वह परिवार के सदस्यों के साथ शिरडी का दौरा करने गया था और मानपुर पुलिस थाना क्षेत्राधिकार के तहत भेरू घाट इलाके में उनका चार पहिया वाहन टूट गया था.

बुलाने पर नहीं आए तहसीलदार, MP के गृह मंत्री ने भरी मंच से किया सस्पेंड

पुलिस नियंत्रण कक्ष से अधिकारियों के निर्देश पर इंदौर डायल 100 तुरंत उल्लेखित जगह पर पहुंच गया जहां कॉन्स्टेबल दीपक वर्मा और डायल 100 पायलट दीपक मीणा ने परिवार के सदस्यों से बात की और उन्हें अपने वाहन से मानपुर के एक होटल तक भिजवाया. उसके बाद पुलिसकर्मी उनके टूटे हुए वाहन को होटल तक ले गए. डायल 100 वाहन के पुलिसकर्मी ने रात के समय परिवार के सदस्यों की मदद करके मैत्रीपूर्ण पुलिसिंग का एक बेहतरीन उदाहरण प्रस्तुत किया. मुश्किल में फंसे परिवार के सदस्यों ने पुलिसकर्मी की खूब सराहना की और उनके पोसिटिव एक्सपीरेंस के लिए उन्हें धन्यवाद दिया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें