इंदौर में पुलिस पर युवक को 72 घंटे बंदी बनाने का आरोप, टीआई लाइन हाज़िर

Smart News Team, Last updated: Wed, 12th May 2021, 5:19 PM IST
  • इंदौर में तीन दिन से बंद कैदी के नाख़ून उखाड़ने और पैर तोड़ने का मामला सामने आने के बाद आजाद नगर टीआई को दर रात लाइन अटैच कर दिया गया.परिजनों ने आरोप लगाया है की बिना किसी गुनाह के तीन दिन से उसे गैरकानूनी तरीके से बंद किया गया हुआ था .
प्रतिकात्मक तस्वीर 

इंदौर. एक युवक को तीन दिनों से आजाद नगर थाने में बंद कर उसकी पिटाई करने और उसके नाखून तक निकालने का मामला सामने आने के बाद आजाद नगर टीआई को वरिष्ठ अधिकारियों ने देर रात लाइन हाज़िर कर दिया .परिजनों ने यह भी आरोप लगाया है की टीआई मनीष डावर ने एक लाख रुपये की मांग की थी. पैसे नही देने पर उन्होंने आरोपि की जमकर पिटाई की और वरिष्ठ अधिकारियों से मामले को छिपाया था .अब पूरे मामले की जांच वरिष्ठ अधिकारी कर रहे हैं.

 

दरअसल, मामला आजाद नगर थाना क्षेत्र का है .यहाँ तीन दिन पहले रामराज नाम के युवक को पुलिस ने मारपीट के मामले मे पकड़ा था .परिजनों की माने तो आजाद नगर टीआई ने एक लाख रुपये परिजनों से आरोपी को छोड़ने के एवज में मांगे थे जो नही देने पर उसे थाने में ही बंद कर जमकर पीटा .आरोपी मौका पाकर दो दिन पहले हथकड़ी सहित थाने से भाग निकला तो पुलिस ने कुछ घंटों बाद उसे घेराबंदी कर के फिर पकड़ा और थाने लाकर उसके पैरों के नाखून निकालकर उसके पैर तोड़ दिए.

इंदौर के सबसे बड़े दवा बाजार पर नकली रेमडेसिविर मामले में पुलिस ने बोला धावा

जबकि नियम अनुसार आरोपी को 24 घण्टे में कोर्ट में पेश करना होता है . मामले का वीडियो सोशल मीडिया में आने के बाद हंगामा मच गया . आरोपी के परिवार के लोग उसके दो छोटे- छोटे बच्चों के साथ पिछले तीन दिन से थाने के बाहर बैठे थे . देर रात मीडिया द्वारा उठाए गए मामले की जानकारी सामने आते ही वरिष्ठ अधिकारियों ने टीआई मनीष डावर को तुंरन्त लाइन हाज़िर कर दिया और सीएसपी नंदिनी शर्मा को मामले की जांच सौंपी है. टीआई द्वारा यह पहला मामला नहीं है . इससे पहले भी वो ऐसी ही वजहों से सुर्खियों में रह चुके है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें