इंदौर पोर्न फिल्म शूटिंग मामला: पाकिस्तान से जुड़े हैं तार, 22 देशों में गिरोह सक्रिय

Smart News Team, Last updated: 26/08/2020 11:02 AM IST
  • एमपी के इंदौर में चर्चित पोर्न फिल्म शूटिंग मामले में अब गिरोह के तार पाकिस्तान से जुड़ गए है. साइबर सेल के हत्थे गिरोह के दो और आरोपी चढ़े हैं. पाकिस्तान से हुसैल अली से प्लेटफार्म करवाया था डिज़ाइन. भारत सहित दुनियां के 22 देशों में फैले हैं गिरोह के जाल.
क्राइम

एमपी के इंदौर में पोर्न फिल्म शूटिंग मामले में अब साइबर सेल को एक और सनसनीखेज जानकारी मिली है. गिरोह से जुड़े दो और आरोपी दीपक सैनी और केशव सिंह साइबर सेल के हत्थे चढ़े हैं. पॉर्न वेबसाइट पर वीडियो को दिखाने वाले प्लैटफॉर्म फिनियों मूवीज बनाने में दीपक सैनी का ही दिमाग है. उसने पाकिस्तान के हुसैन अली नाम के शख्स से यह प्लैटफॉर्म डिजाइन कराया था. 

पूछताछ में जानकारी सामने आई है कि गिरोह का नेटवर्क भारत समेत 22 देशों में फैला हुआ है. यह गिरोह लड़कियों को वेब सीरीज में काम दिलाने के बाहने अपने जाल में फंसाता था. गिरोह का मास्टरमाइंड भिंड का रहने वाला बृजेंद्र सिंह गुर्जर 11 अगस्त को गिरफ्तार किया जा चुका है. 

इंदौर: मॉडल पॉर्न फिल्म शूट मामला, एसआईटी ने कोर्ट में सौंपे आरोपियों के नाम

साइबर सेल एसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि अल्ट बालाजी में वेब सीरीज बनाने के नाम पर एडल्ट वेब सीरीज बनाई जा रहीं थी. इसके बाद इन्हें पोर्न साइट पर डाला जा रहा था. फिनियों मूवीज का मालिक 30 साल का दीपक सैनी ग्वालियर का निवासी है. जबकि उसका एक अन्य सहयोगी 27 वर्षीय केशव सिंह मुरैना का रहने वाला है. दीपक ने इंदौर के एक कॉलेज से बीटेक किया है. 2019 में फ्रीलांसर वेबसाइट के जरिए वह पाकिस्तान के नागरिक हुसैन अली के संपर्क में आया.

इंदौर की मॉडल को झांसा देकर बनाई पोर्न फिल्म, पुलिस ने शुरू की जाँच

दीपक ने पूछताछ में बताया कि फिनियों मूवीज ओटीटी प्लैटफॉर्म तैयार कराने के लिए उसने पाक नागरिग हुसैन को 20 हजार रुपए दिए थे. फिनियों मूवीज का मेंटेनेंस का काम हुसैन ही देख रहा था. इसके लिए सैनी उसे 30 से 40 हजार रुपए महीना पगार दे रहा था. फिल्म बनाने में डायरेक्टर बृजेंद्र गुर्जर, राजेश बजाड उर्फ राज गुर्जर, अंकित चावडा, मिलिंद डाबर, सुनील जैन, अनिल द्विवेदी, विजयानंद पांडेय, अजय गोयल, गजेंद्र सिंह, युवराज, प्रमोद सिमरिया व योगेन्द्र जाट भी शामिल हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें