इंदौर: मृतक बुजुर्ग की आंख खा गए चूहे, लाश की दुर्दशा देख सब रह गए हैरान

Smart News Team, Last updated: 22/09/2020 09:38 AM IST
  • इंदौर के यूनिक हॉस्पिटल में विनय नगर जैन कालोनी निवासी बुजुर्ग की हुई मौत, परिजनों का आरोप है अस्पताल ने शव को सही तरीके से नहीं रखा, जिसके कारण शव को कई जगह से चूहे ने कुतर दिया.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

इंदौर| मध्यप्रदेश के इंदौर में एक और अस्पताल की लापरवाही सामने आई है. इंदौर के यूनिक हॉस्पिटल में विनय नगर जैन कालोनी निवासी बुजुर्ग की मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि अस्पताल ने शव को सही तरीके से नहीं रखा, जिसके कारण शव को कई जगह से चूहे ने कुतर दिया. कलेक्टर मनीष सिंह ने इस मामले में मजिस्ट्रियल इंक्वायरी के निर्देश दिए हैं. 

आपको बता दें कि इंदौर में शहर एक बार फिर से अस्पताल की बड़ी लापरवाही सामने आई है, बीते एक सप्ताह में इंदौर से अस्पताल की बड़ी लापरवाही की तीसरी घटना है. प्राइवेट अस्पताल में एक शव को चूहे ने कुतर दिया है. इससे पहले एक अस्पताल में शव स्ट्रेचर पर रखे-रखे कंकाल बन गया था. जिसके बाद प्रबंधन की खूब किरकिरी हुई थी.

अब इंदौर के यूनिक अस्पताल में विनय नगर के जैन कॉलोनी निवासी एक बुजुर्ग की मौत हो गई थी. अस्पताल में बुजुर्ग के शव को चूहे ने कुतर दिए हैं. वीडियो व फोटो सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है. इसके बाद प्रशासन ने मजिस्ट्रियल इंक्वायरी के आदेश दिए हैं. लेकिन इस लापरवाही को लेकर अस्पताल प्रबंधन पर सवाल उठ रहे हैं. मामले की जांच एडीएम अजय देव शर्मा करेंगे.

इंदौर: 3 महीने में दो बार हुई महिला डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव

परिजनों ने बताया कि बुजुर्ग नवीन चंद जैन को सांस लेने में तकलीफ हुई थी. 17 सितंबर को उन्हें यूनिक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. रविवार की रात उनकी मौत हो गई थी. सोमवार को परिजन जब वहां पहुंचे. तो शव को चूहे ने कुतर दिया था. इसे देख कर परिजन वहां हंगामा करने लगे. वहीं परिजनों के हंगामे को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन ने अपनी गलती मानी है.

इसके साथ ही परिजनों ने अस्पताल पर लापरवाही का भी आरोप लगाया है. मृतक के परिजनों का कहना है कि रविवार शाम 6 बजे तक उनसे बात हुई थी. उसके बाद अस्पताल के लोगों ने उनसे बात नहीं करने दिया. रात को साढ़े 8 बजे फिर अस्पताल के लोगों ने हमें बताया कि उनकी हालत गंभीर है, लेकिन वो दुनिया छोड़ चुके थे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें