कोरोना काल के बावजूद इंदौर पंजीयन विभाग ने 45 करोड़ अधिक कमाए

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Dec 2020, 7:17 PM IST
  • कोरोना काल के चलते जहां अधिकांश सरकारी विभागों का राजस्व काफी घट गया है, वहीं इंदौर पंजीयन विभाग की तो चांदी हो गई है।
पंजीयन विभाग इंदौर की अब तक 740 करोड़ों रुपए की आय हुई

इंदौर। दरअसल इंदौर पंजीयन विभाग ने कोरोना काल के बावजूद भी गत वर्ष से 40-45 करोड़ों रुपए अधिक राजस्व कमाए हैं। वरिष्ठ जिला पंजीयक बालकृष्ण मोरे ने बताया कि पंजीयन विभाग इंदौर की अब तक 740 करोड़ों रुपए की आय हुई है। उन्होंने बताया कि इस वित्तीय वर्ष कोरोना के चलते कार्यालय मई से खोला गया था। अगर पिछले वर्ष से इसकी तुलना की जाए तो विभाग को लगभग 40 से 45 करोड़ रुपए की ज्यादा आय हुई है।

श्री मोरे ने बताया कि वर्तमान दिनों में इंदौर के चारों पंजीयन कार्यालयों में काफी भीड़ भाड़ हो रही है इसका कारण है 31 दिसंबर तक इंदौर नगर निगम सीमा में सम्पत्तियों के पंजीयन में 2% की छूट देना है। जिसके कारण वर्तमान में प्रतिदिन 850 स्लॉट जारी किए जा रहे हैं । लोगों को परेशानी ना हो इसके लिए चारों कार्यालयों में विशेष व्यवस्थाएं की गई हैं।

12वी छात्रा ने मंदिर में फांसी लगाकर की सुसाइड

गौरतलब है कि कोरोना का आल के दौरान खास करके लोग डाउन खत्म होने के बाद प्रॉपर्टी की डिलिंग्स में बहुत घुमाया है जिसको देखते हुए इंदौर पंजीयन विभाग की आमदनी भी पिछले वर्ष के मुकाबले कई बढ़ गई है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें