इंदौर में सैम्पल देने के लिए नही खोले लोगों ने दरवाज़े

Smart News Team, Last updated: 13/08/2020 10:05 AM IST
  • कोरोना को कंट्रोल करने के लिए डीएम ने रेपिड फोर्स टीमों का गठन किया है. लेकिन आज जब सीरो सर्वे की टीमें शहर में लोगों के घरों तक पहुंची तो लोगों ने दरवाजे ही नहीं खोले. एसडीएम जब मौके पर पहुंचे तो फिर समझाने से 900 लोगों ने दिए सैम्पल.
सांकेतिक तस्वीर

एमपी के इंदौर में लगातार कोरोना पैर पसार रहा है. मध्यप्रदेश मे इन दिनोे डॉक्टर हों या पुलिस सभी कोरोना से जूझ रहे हैं. इंंदौर में कभी डॉक्टरों पर हमला हो रहा है. तो लॉकडाउन का पालन कराने वाली पुलिस पर पथराव देखने को मिला. कहीं अस्पताल से भाग रहे कोरोना मरीज तो कभी भर्ती होने से ही इनकार कर देते है. अब कोरोना को लेकर शरीर में बनी प्रतिरोधक क्षमता का पता लगाने के लिए शुरू हुए सीरो सर्वे में टीमों को भारी मशक्कत करना पड़ रहा है. 

सर्वे टीम शहर में लोगों के घरों में पहुंची तो कई लोगों ने दरवाजे तक नहीं खोले. यह बोलकर लौटा दिया कि घर में सब स्वस्थ हैं, जांच नहीं करवाना. फिर सूची में जो पते दिए थे, वहां अमला पहुंचा तो मकान नंबर ही नहीं मिले. आज सुबह भी परेशानी हुई तो उसके बाद एमजीएम मेडिकल कॉलेज ने प्रशासन से मदद मांगी. कलेक्टर ने सभी एसडीएम को रेवेन्यू इंस्पेक्टर की ड्यूटी लगाने को कहा. इसके बाद 900 के करीब सैंपल हो पाए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें