इंदौर: सट्टा किंग का फ्रांस से कनेक्शन, फर्जी बैंक खातों से हुआ इतने का लेनदेन

Smart News Team, Last updated: 11/10/2020 05:00 PM IST
  • देश में सट्टे के नेटवर्क का तार अब विदेशों से जुड़े नजर आ रहे हैं. बता दें, सट्टा किंग ने भारत में कर्नाटक को अपना हेडक्वार्टर बना रखा था. इस मामले में पुलिस 20 फर्जी खातों में 50 करोड़ से ज्यादा का ट्रांजेक्शन पकड़ चुकी है.
देश में सट्टे के नेटवर्क का तार करोड़ों का ट्रांसेक्शन पकड़ा

 इंदौर: देश में ऑनलाइन सट्टे का नेटवर्क लगातार फैलता जा रहा है. अब सट्टे के कनेक्शन फ्रांस से जुड़े होने की खबरें सामने आ रही हैं. बता दें, सट्टा किंग ने भारत में कर्नाटक को अपना हेडक्वार्टर बना रखा था. इस मामले में पुलिस 20 फर्जी खातों में 50 करोड़ से ज्यादा का ट्रांजेक्शन पकड़ चुकी है. वहीं, इस मामले में पुलिस मध्यप्रदेश के भंवरकुआं और जूनी इंदौर के कई कारोबारियों पर सट्टे के जरिए काले धन को सफेद करने का शक है. जिसकी जांच चल रही है. दरअसल, डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने जांच के लिए तीन प्रोबेशनर आईपीएस अमित तोलानी (एएसपी ग्रामीण), आईपीएस पुनित गेहलोद (सीएसपी अन्नापूर्णा) और आईपीएस अभिनव विश्वकर्मा को इस काम के लिए लगाया है.

इंदौर: मध्यप्रदेश में डीआरआई की बड़ी कार्रवाई, 1 क्विंटल 733 किलो गांजा हुआ जब्त

सट्टे के कारोबार से जुड़े अपराधियों की तीनों अफसर मिलकर जांच कर रहे हैं. हाल ही में खबरें आ रही हैं कि अफसरों ने अन्नापूर्णा थाने को बेसकैंप बनाकर संदेहियों से पूछताछ कर रहे हैं. वहीं, इस मामले में एक को-ऑपरेटिव बैंक के अफसरों को भी तलब किया गया है जिन पर बेनामी खाते खोलने का आरोप है. इन खातों में 50 करोड़ रुपये से ज्यादा का लेनदेन हुआ है. वहीं, पुलिस की जांच में पाया गया है कि एएसपी अमित तोलानी के मुताबिक, अभी तक की जांच में पता चला कि सट्टा कंपनी का डोमिन फ्रांस से रजिस्टर्ड है.

इसमें विदेशी ऐप के माध्यम से धोखाधड़ी का इस तरह का यह पहला मामला है. पुलिस अभी तक पलाश अभिचंदानी, जितेंद्र लौवंशी, विकास यादव सहित पांच लोगों को पकड़ चुकी है. सट्टा किंग ने कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश में एजेंट नियुक्त किए थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें