उद्घाटन के इंतजार में धूल खा रहा इंदौर का शहीद पार्क, 4 साल पहले हो चुका तैयार

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 28th Nov 2021, 8:06 PM IST
  • इंदौर में तैयार शहीद पार्क पिछले 4 सालों से उद्घाटन के इंतजार में है. शहीदों को समर्पित इस पार्क का 4 साल पहले हो चुका था, लेकिन अभी तक उद्घाटन कार्यक्रम न होने की वजह से पार्क आम व्यक्ति के लिए नहीं खोला गया है.
उद्घाटन के इंतजार में धूल खा रहा इंदौर का शहीद पार्क, 4 साल पहले हो चुका तैयार

इंदौर. पूरे देश में इस वक्त आजादी महोत्सव मनाया जा रहा है. इस कार्यक्रम में केंद्र प्रदेश और जिले स्तर पर कई कार्यक्रम को आयोजन किया जा रहा है. ऐसे वक्त इंदौर प्रशासन शहीदों के लिए समर्पित पूर्वी रिंग रोड स्थित शहीद स्मारक पार्क को भूल गए हैं. ये पार्क पिछले 4 साल से तैयार उद्घाटन का इंतजार कर रहा है. इस पार्क का 2018 में शुभारंभ किया जाना था, लेकिन प्रशासन और शासन की अनदेखी की वजह से पार्क बंद पड़ा है.

लाल किले का हूबहू है प्रवेश द्वार

इस पार्क की खासियत है कि इसे शहीदों की याद के तौर पर तैयार किया है. इस पार्क का प्रवेश द्वार दिल्ली में बने लाल किले जैसा है. और इसके साथ ही इसमें अमर ज्योति, बंदूक और टोपी की प्रतिकृति भी लगाई गई है,

आसमान छूते सब्जियों के दाम ने बिगाड़ा आम जनता का बजट, टमाटर 80 के पार

सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए ओपन ऑडिटोरियम

इस पार्क में सांस्कृतिक व देशभक्ति से जुड़े कार्यक्रमों के लिए एक ओपन ऑडिटोरियम का भी निर्माण किया गया है ताकि इसके उद्घाटन के बाद इस पार्क में कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जा सके. साथ ही इस पार्क को एक टूरिज्म प्लेस के तौर पर तैयार किया गया है.

सोशल मीडिया पर उठी मांग, इंदौर का नाम बदलकर रखा जाएगा अहिल्याबाई !

100 शहीदों की पढ़ने को मिलेगी जीवनी

इस पार्क में 100 शहीदों की जीवनी भी लगाई गई है ताकि जो भी इस पार्क को देखने आए वो इन शहीदों की जीवनी को पढ़कर उनके बारे में जान सके. इस जीवनी और उनके फोटो फ्रेम में अभी 11 लाख रुपये खर्च किए जा चुके हैं. साथ ही पार्क में बच्चों के लिए झूले और दर्शनीय स्थल का भी निर्माण किया गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें