इंदौर: इन सांपों की अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों रुपए की कीमत

Smart News Team, Last updated: 18/09/2020 06:26 PM IST
  • जंगल से पकड़कर युवक सांप को बेचने लाए थे. भारत से बाहरी देशों तक में की जाती है डिमांड, खाड़ी देशों में अधिक है दो मुंहे सांप की डिमांड .सांप से कैंसर और यौन शक्तिवर्धक दवाएं बनती हैं. तंत्र-मंत्र करने वाले भी इस्तेमाल करते हैं.
साँप

इंदौर: अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों रुपए है कीमत में बिकने वाले साँपो के साथ तीन तस्कर हुए गिरफ्तार. शुक्रवार को क्राइम ब्रांच ने रेड सैंड बोआ यानी दो मुंहे सांप के साथ तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है. तीनों सांप को जंगल से पकड़कर इंदौर में बेचने के लिए लाए थे. आरोपियों से बरामद सांप की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों रुपए है. दो मुंहे सांप की तस्करी भारत से नेपाल, इंडोनेशिया, ताइवान, मलेशिया, चीन के अलावा अरबी देशों में भी की जाती है.

लम्बाई सुनकर हैरान हो जायेगे आप, 3.5फिट लंबा और 2.8 किलो वजनी है सांप

क्राइम ब्रांच के अनुसार भाटखेड़ी निवासी विशाल राजपूत, उसके भाई राहुल और खरगोन निवासी दिलीप नायक को पकड़ा गया है. तीनों को एबी रोड वैष्णव ढाबे के पास से गिरफ्तार किया गया. तीनों सौदागर की तलाश में घूम रहे थे. टीम ने अपने एक सदस्य को ग्राहक बनाकर तस्करों के पास भेजा था. टीम ने आरोपियों के पास से करीब 3.5 फीट लंबा और 2.8 किलो वजनी दो मुंहा सांप बरामद किया. टीम आरोपियों को थाने लेकर आई. यहां पर विभाग सूचना को सूचित करते हुए इस पर वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई.

हिंदुस्तान सहित कई देशों में होती है तस्करी

रेड सैंड बोआ प्रजाति के सांप से नशा, ताकत, मिर्गी, कैंसर, यौन शक्ति और एड्स जैसी बीमारियों की दवाइयां बनती हैं. सांप दुर्लभ प्रजाति का है. खाड़ी देशों में रेड सैंड बोआ से बने व्यंजनों की कीमत लाखों रुपयों में होती है. इसके अलावा कुछ लोग इसे तंत्र/मंत्र क्रिया से भी जोड़कर देखते हैं. टीम के अनुसार दो मुंहे सांप का यदि 2.5 किलो से अधिक वजन है तो उसकी कीमत कई गुना बढ़ जाती है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें