इंदौर में झोपड़ी से बंगले तक पहुंचने वाली लेडी डॉन अलका का मकान जमींदोज

Smart News Team, Last updated: 03/12/2020 03:28 PM IST
  • अलका पहले गरीब बस्ती में झोपड़ी में रहती थी, वहीं से उसने जुर्म की राह पकड़ी. पहले वह शराब की कालाबाजारी करती थी. 2005 तक वह एक नामी अपराधी के तौर पर जानी जाने लगी थी. इंदौर नगर निगम ने द्वारकापुरी के श्री राम नगर में स्थित उसके तीन मंजिला मकान को गिराकर मिट्टी में मिला दिया.
द्वारकापुरी के श्री राम नगर में स्थित लेडी डॉन के नाम से मशहूर अलका के तीन मंजिला मकान को तोड़ती नगर निगम की जेसीबी

इंदौर. इंदौर में चल रही गुंडा विरोधी मुहिम के तहत गुरुवार को इंदौर की मशहूर लेडी डॉन अलका दीक्षित के मकान का नंबर आय़ा. पुलिस एवं नगर निगम ने उसके मकान को तोड़कर जमींदोज कर दिया. अलका के खिलाफ विभिन्न थानों में डकैती एवं आबकारी के कई मामले दर्ज हैं. अलका के द्वारकापुरी के श्री राम नगर में स्थित तीन मंजिला मकान को गिराकर मिट्टी में मिला दिया गया. नगर निगम के रिमूवल टीम और पुलिस प्रशासन की इस संयुक्त कार्रवाई को करते वक्त एक महिला द्वारा कार्रवाई को करने से रोका गया. हालांकि पुलिस प्रशासन की सख्ती के बाद कारर्वाई को शांतिपूर्ण ढंग से अंजाम दिया गया. 

लेडी डॉन अलका की गरीबी से लेकर अलकापुरी के इस महंगे आलीशान बंगले तक का सफर बहुत ही रोचक है. अलका पहले गरीब बस्ती में झोपड़ी में रहती थी, वहीं से उसने जुर्म की राह पकड़ी. पहले वह शराब की कालाबाजारी करती थी. धीरे-धीरे उस पर आबकारी के तहत विभिन्न थानों में कई मामले भी दर्ज हुए. 2005 तक वह एक नामी अपराधी के तौर पर जानी जाने लगी थी. अपराध की इस दुनिया में उसका साथ उसके पति अशोक दीक्षित ने भी दिया. अलका पर विभिन्न थानों में 13 से अधिक और उसके पति पर 17 से अधिक मामले दर्ज हैं. अलका के बेटे जयदीप पर भी दो से ज्यादा मामले दर्ज हैं. अभी पिछले महीने ही अलका एक मामले में जेल से रिहा हुई है.

एक्शन में इंदौर के आईजी, लापरवाही बरतने पर दो थाना प्रभारियों को किया अटैच

 नगर निगम के अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह के अनुसार, इंदौर में गुंडा विरोधी अभियान लगातार जारी है. इसके तहत गुरुवार को अलका दीक्षित के द्वारकापुरी स्थित मकान को गिराया गया. यह तीन मंजिला मकान था, जो जिसका कई सारा भाग गैरकानूनी था. गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के इंदौर में इन दिनों लिस्टेड गुंडे और बदमाशों के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने नगर निगम के साथ मिलकर एक मुहिम छेड़ रखी है. इस मुहिम का नाम गुंडा विरोधी मुहिम है. इसके तहत लिस्टेड 15 बदमाशों के घरों को जमींदोज किया जा रहा है. यह मुहिम पिछले कई दिनों से लगातार जारी है. इसके तहत गुंडे व बदमाशों द्वारा जमीन अतिक्रमण कर बनाए गए निर्माण को तोड़ा जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें