ड्रग रैकेट से जुड़े बियर बार का लाइसेंस 31 दिसंबर के बाद भी निरस्त रहेगा

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Dec 2020, 1:53 PM IST
  • इंदौर के कुछ पब और बार में सुनियोजित तरीके से ड्रग्स की सप्लाई की जाती थी. नशे के कारोबार से जुड़ाव के कारण कलक्टर ने कुछ बियर बार के लाइसेंस 31 दिसंबर तक स्थगित कर दिए थे. अब ड्रग रैकेट से जुड़े होने के कारण कलक्टर ने तीन बार के लाइसेंस 31 दिसंबर के बाद भी निरस्त रखने के आदेश जारी कर दिए हैं.
फाइल फोटो

इंदौर. इंदौर में ड्रग मामले में गिरफ्तार आंटी उर्फ प्रीति के खुलासे के बाद जो आरोपी पकड़े गए, उनसे इंदौर में कई बार और पब संचालकों की मिलीभगत सामने आई है. इन जगहों पर सुनियोजित तरीके से ड्रग्स की सप्लाई की जाती थी. नशे के कारोबार से जुड़ाव के कारण पिछले दिनों कलक्टर मनीष सिंह ने कुछ बियर बार के लाइसेंस 31 दिसंबर तक स्थगित कर दिए थे. 

अब पुलिस से मिली जानकारी और इन बार और पब के ड्रग रैकेट से जुड़े होने के कारण कलक्टर मनीष सिंह ने सख्त कार्रवाई करते हुए तीन बार के लाइसेंस 31 दिसंबर के बाद भी निरस्त रखने के आदेश जारी कर दिए हैं. इसके साथ ही ड्रग के कारोबार में भागीदार इन बियर बारों के स्थाई रूप से लाइसेंस समाप्त करने की प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी. जिन बार के लाइसेंस 31 दिसंबर के बाद भी स्थगित रहेंगे, उनमें पिचर्स बार, विडोरा बार, E= MC स्क्वायर बार शामिल हैं. वही सुंदरवन बार एवं एफ थ्री प्राइड होटल बार को भी आगामी आदेश तक अनुसंधान की कार्रवाई के चलते बार लाइसेंस से वंचित किया गया है. 

इंदौर : रात नौ बजे तक खुला रहा आरटीओ, लाइसेंस बनवाने के लिए मची होड़

इसके साथ ही वेस्ट वेस्टर्न ओ टू बार, ओरा बार के साथ ठरकी पब को भी आगामी आदेश तक आबकारी विभाग द्वारा दी जाने वाली अनुज्ञप्तियों के लिए अपात्र घोषित किया गया है. उल्लेखनीय है कि सुंदरवन बार संजय पाहवा, प्राइड जायसवाल और पिचर्स दीपेश मोटवानी का है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें