जिला सहकारी बैंक के जनरल मैनेजर को लोकायुक्त पुलिस ने डेढ़ लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

Haimendra Singh, Last updated: Sun, 5th Sep 2021, 1:21 PM IST
  • एमपी में लोकायुक्त पुलिस ने जिला सहकारी बैंक के महाप्रबंधक को उनके सराकारी आवास पर 1.5 लाख की घूस लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है. जनरल मैनेजर यह रिश्वत झाबुआ जिले की रामा शाखा के प्रबंधक वेल सिंह पलासिया से ले रहे थे.
जिला सहकारी बैंक के महाप्रबंधक को लोकायुक्त पुलिस 1.5 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा.( सांकेतिक फोटो)

इंदौर. मध्य प्रदेश के आदिवासी झाबुआ जिले में लोकायुक्त पुलिस ने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के महाप्रबंधक को अपने ही बैंक के साथी प्रबंधक से एक लाख पचार हजार रुपये की घूस लेने के आरोप में रंगेहाथों पकड़ा गया है. जानकारी के अनुसार, महाप्रबंधक(General Manager) यह रकम किसान फसल बीमा योजना का लाभ लेने वाले किसानों को ब्योरा दर्ज कराने के सरकारी काम के बदले ले रहे थे. लोकायुक्त पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

लोकायुक्त पुलिस के डीएसपी आनंद कुमार यादव ने बताया कि हमें रिश्वत लेने की गुप्त सूचना मिली थी. इसके बाद लोकायुक्त पुलिस आरोपियों का पकड़ने का प्लान बनाया. लोकायुक्त पुलिस की टीम ने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के महाप्रबंधक डी. आर. सारोठिया के सरकारी घर पर पकड़ने का जाल बिछाया. लोकायुक्त पुलिस ने महाप्रबंधक को झाबुआ जिले की रामा शाखा के प्रबंधक वेल सिंह पलासिया से 1.5 लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ पड़ लिया. पलासिया ने महाप्रबंधक सारोठिया के रिश्वत मांगने से परेशान होकर लोकायुक्त पुलिस के इंदौर कार्यालय में शिकायत की थी.

कांग्रेस के कार्यकाल में बने कलेक्टरों पर गिरी गाज, एक दिन में 31 IAS अफसरों का तबादला

शाखा प्रबंधक ने बताया कि महाप्रबंधक ने रिश्वत के रुप में 1.5 लाख रुपये 19 अगस्त को उनसे ले लिये थे. इसके बाद भी महाप्रबंधक का पैसा देने का दवाब बनाया जा रहा था. घूसखोरी के आरोप में महाप्रबंधक के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण (संशोधन) अधिनियम 2018 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है. डीएसपी ने बताया कि महाप्रबंधक को अभी गिरफ्तार कर लिया गया है. डीएसी ने कहा, कि उन्हें बॉन्ड भरवाकर इस लिए छोड़ दिया गया है कि लोकायुक्त पुलिस के बुलाने पर वह समय पर कार्यकल में प्रस्तुत होंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें