चूड़ी बेचने वाले तस्लीम अली की जमानत अर्जी खारिज, लड़की ने लगाए थे गंभीर आरोप

Deepakshi Sharma, Last updated: Wed, 1st Sep 2021, 2:03 PM IST
  • मध्य प्रदेश की विशेष अदालत ने खर्जी की चूड़ी बेचने वाले तस्लीम अली की जमानत अर्जी. 23 अगस्त को गिरफ्तार किए गए थे तस्लीम अली. 13 साल की लड़की ने की थी यौन उत्पीड़न और जालसाजी की शिकायत. पुलिस का कहना यदि मिली जमानत तो मामले को सुलझाने में होगी परेशानी.
चूड़ी बेचने वाले तस्लीम अली की जमानत अर्जी हुई खारिज (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौर. मध्य प्रदेश की एक विशेष अदालत ने बुधवार को चूड़ी बेचने वाले तस्लीम अली की जमानत अर्जी को मंगलवार के दिन खारिज कर दिया. स्पेशल पब्लिक प्रॉसिक्यूटर संजय मीणा ने बताया कि उत्तर प्रदेश के रहने वाले तस्लीम की जमानत अर्जी को विशेष अतिरिक्त न्यायाधीश (पोस्को एक्ट) पावस श्रीवास्तव ने मंगलवार के दिन खारिज कर दिया था. तस्लीम अली को 23 अगस्त को तब गिरफ्तार किया गया था जब एक 13 साल की लड़की ने उसके खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराई थी. इतना ही नहीं तस्लीम पर जालसाजी का भी केस दर्ज किया गया था, ऐसा इसीलिए किया गया क्योंकि उसके पास दो आधार कार्ड और तीन अलग-अलग नामों वाला एक वोटर आईडी कार्ड था. जानकारी के लिए ये बता दें कि वह 24 अगस्त से इस वक्त जेल में बंद है.

स्पेशल पब्लिक प्रॉसिक्यूटर संजय मीणा ने ये तक कहा कि पुलिस अधिकारियों ने अदालत के सामने ये दलील दी है कि तस्लीम अली उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखते हैं और यदि जमानत दी जाती है तो मामले की जांच करना मुश्किल होगा. इस पूरे मामले को लेकर तस्लीम के वकील एहतिशाम ने कहा, 'हम जमानत के लिए हाईकोर्ट जाएंगे क्योंकि वह निर्दोष है और कुछ लोगों की नफरत का शिकार हो गया था.

सर्राफा बाजार 1 सितंबर का भाव: भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर में बदली सोने की कीमत, चांदी स्थिर

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुलिस ने तसलीम के खिलाफ गोविंद नगर इलाके में भीड़ द्वारा पिटाई के एक दिन बाद 23 अगस्त को मामला दर्ज किया था. इसके अलावा स्थानीय लोगों ने 22 अगस्त को उसकी चूड़ियां और यहां तक की 10,000 रुपये भी लूट लिए.

1 सितंबर से बदल जाएंगे 10 नियम, जल्द करवा लें ये काम, नहीं तो...

जब खुद तस्लीम ने शिकायत दर्ज करवाना चाही तो पुलिस ने आठ घंटे बाद मामला दर्ज किया. ये सब तक हुआ जब समुदाय के कुछ सदस्यों ने थाने में विरोध प्रदर्शन किया. इसके अलावा पुलिस की ओर से तस्लीम की पिटाई, लूटपाट और दो समुदायों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के आरोप में चार मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें