मध्य प्रदेश सरकार का फैसला, किसानों को मिलेगी आर्मी की तरह कैंटीन, जानें डिटेल्स

Smart News Team, Last updated: 27/03/2021 08:53 PM IST
  • मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह की सरकार ने बड़ा फैसला किया है. प्रदेश सरकार मध्य प्रदेश के 259 मंडियों में किसानों के लिए आर्मी के शॉपिंग कैंटीन के तर्ज पर किसानों की कैंटीन खोलने का फैसला किया है
मध्य प्रदेश सरकार का फैसला, किसानों को मिलेगी आर्मी की तरह कैंटीन, जानें डिटेल्स

इंदौर: तीन कृषि कानूनों को लेकर पूरे देश के किसान केंद्र की बीजेपी सरकार से नाखुश हैं और देश के अलग अलग हिस्सों में प्रदर्शन कर रहें हैं. सरकार भी किसानों को कभी मना रही है तो कभी डरा रही है. इसी मानने डराने की खेल में मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह की सरकार ने बड़ा फैसला किया है. प्रदेश सरकार मध्य प्रदेश के 259 मंडियों में किसानों के लिए आर्मी के शॉपिंग कैंटीन के तर्ज पर किसानों की कैंटीन खोलने का फैसला किया है. 

इस कैंटीन में किसानों के लिए एक्सपोर्ट क्वालिटी का सामान रखा जाएगा जो पूरी तरह एस टैक्स फ्री होगा और सस्ते दामों पर मिलेगा. कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि इससे किसान का सम्मान बढ़ेगा. हमारे किसान आर्मी के जवानों की तरह हैं. लॉकडाउन में जब सब कुछ बंद था तो किसानों ने जनता की मदद की. उन्होंने कहा कि हम आर्मी जैसी कैंटीन हर मंडी में किसानों को उपलब्ध कराएंगे, ताकि उन्हें एक्सपोर्ट क्वालिटी का सामान आर्मी की तरह ही मिल सके. यह सामान बिना टैक्स का होगा और सस्ते दामों पर मिलेगा.

MP के चार और शहरों में रविवार को लॉकडाउन, 31 मार्च तक स्कूल कॉलेज रहेंगे बंद

मंडियों में खोले जाएंगे क्लीनिक

कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि मंडी में आने वाले किसानों के सेहत का पूरा ख्याल रखा जाएगा. मंडियों में आए किसानों का अधिकारीबगते पर हाथ जोड़कर सम्मान और अभिवादन करेगें. कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि हर मंडी में अटल क्लीनिक खोली जा रही है. इस क्लीनिक में डॉक्टर मंडी में आने वाले किसानों की स्वास्थ जांच करेंगे और यदि उन्हें कोई बीमारी है, दिक्कत होती है तो उसका इलाज भी सरकार की तरफ से फ्री किया जाएगा. साथ ही जांच के साथ दवा भी निशुल्क किसानों को उपलब्ध कराई जाएगी.

27 मार्च तक निबटा लें सभी जरूरी काम, फिर 4 अप्रैल तक सात दिन बंद रहेंगे बैंक

मंत्री के बिगड़े बोल घटिया काम करने वाले अफसरों को उल्टा लटका दूंगा- मंत्री

प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री कमल पटेल भोपाल में किसान विश्राम गृह के भूमि पूजन के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान की भाषा बोलते सुनाई दिये. उन्होंने कहा रेस्ट हाउस का निर्माण घटिया हुआ तो अधिकारियों को उल्टा टांग दूंगा और ठेकेदार के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराऊंगा. किसी को छोडूंगा नहीं. ये विश्राम गृह AIIMS के पास किसानों के लिए बनाया जायेगा. प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने इसका भूमि पूजन किया. विश्राम गृह 10 करोड़ की लागत से बनेगा. इसका इस्तेमाल ट्रेनिंग के लिए भी किया जाएगा. साथ ही जो भी किसान एम्स में इलाज के लिए आएंगे उनके ठहरने की व्यवस्था यहां की जायेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें