चूड़ी वाले की पिटाई के बाद थाना घेरने वालों में एक व्यक्ति का पाकिस्तान से लिंक: MP गृह मंत्री

Smart News Team, Last updated: Mon, 30th Aug 2021, 8:46 PM IST
  • मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आज यानी सोमवार को कहा कि, "इंदौर में हाल ही में हुई चूड़ी वाली घटना के बाद थाने का घेराव करने और भड़काऊ संदेश फैलाने के मामले में गिरफ्तार किये गये 4 लोगों में से एक व्यक्ति अल्तमश खान के तार पाकिस्तान से जुड़े होने के भी सबूत मिले हैं."
मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (फाइल फोटो)

इंदौर: मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आज यानी सोमवार को इंदौर में चूड़ी वाले की पिटाई मामले पर खुलकर बात की. मीडिया से मुखातिब होने के दौरान उन्होंने कहा कि, "इंदौर में हाल ही में हुई चूड़ी वाली घटना के बाद थाने का घेराव करने और भड़काऊ संदेश फैलाने के मामले में गिरफ्तार किये गये 4 लोगों में से एक व्यक्ति अल्तमश खान के तार पाकिस्तान से जुड़े होने के भी सबूत मिले हैं."

उन्होंने यह भी दावा किया कि, "अल्तमश खान नाम का यह व्यक्ति ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी से भी जुड़ा है." नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि, ''इंदौर में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश में शामिल और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी से जुड़े आरोपी अल्तमश खान के तार पाकिस्तान से जुड़े होने के भी सबूत मिले हैं."

मध्य प्रदेश में अगले 24 घंटों में मूसलाधार बारिश की संभावना, जानें कैसा होगा मौसम

उन्होंने कहा कि, "अल्तमश के पास से पुलिस को कई तरह की आपत्तिजनक सामग्री मिली हैं, जिससे प्रदेश की शांति व्यवस्था को खतरा था." मिश्रा ने कहा कि, "अल्तमश ने इंदौर में हाल ही में हुई चूड़ी वाली घटना के बाद इंदौर में थाने का घेराव किया था. उनके पास से तमाम आपत्तिजनक इस तरह के वीडियो एवं ऑडियो मिले हैं जो प्रदेश की शांति भंग करने को काफी थे." उन्होंने कहा कि, "अल्तमश सहित जो चार लोग इंदौर में गिरफ्तार किये गये हैं उनसे अभी पूछताछ जारी है."

मालूम हो कि हाल ही में इंदौर के बाणगंगा थाना क्षेत्र के खारचा इलाके में चूड़ी बेचने आए युवक पर अचानक कुछ लोगों ने हमला कर दिया था. जिसके बाद घटना की विडियो सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रही थी. पुलिस ने मामले में संज्ञान लेते हुए दंगा भड़काने की साजिश रचने के तहत 4 लोगों को हिरासत में लिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें