MP ITI की सीएम से मांग, कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए 10 लाख का करवाएं बीमा

Smart News Team, Last updated: Fri, 21st May 2021, 8:49 AM IST
कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. कोविड के नए मामलों में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) में कार्यरत कर्मचारी और अधिकारी भी शामिल है. इसको देखते हुए कर्मचारी संगठन ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए शिवराज सरकार से पांच से दस लाख तक बीमा करवाया करवाने की मांग की है. सीएम को ज्ञापन भेजा है.
MP ITI की सीएम से मांग, कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए 10 लाख का करवाएं बीमा

इंदौर: कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. नए मामलों में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) में कार्यरत कर्मचारी और अधिकारी भी शामिल है. इसको देखते हुए कर्मचारी संगठन ने कोरोना मरीजों के इलाज लिए राज्य सरकार से बीमा करवाने की मांग की है.

पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ज्ञापन भेजा है. जिसमें कि पेंशनर्स को भी योजना का लाभ दिए जाने पर जोर दिया गया है. मध्य प्रदेश आईटीआई तकनीकी कर्मचारी संगठन के प्रांताध्यक्ष अनिल वर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा और मुख्यमंत्री आयुष्मान स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत कर्मचारी-अधिकारी और सेवानिवृत्त के परिवार के इलाज के लिए नि:शुल्क चिकित्सा, पांच से दस लाख तक बीमा करवाया जाए. योजाना का लाभ सरकारी विभाग के सभी बीस लाख से ज्यादा संविदा, नियमित और शिक्षक संवर्ग कर्मचारी को दिया जाए.

MP सरकार का बड़ा फैसला- कोरोना से मरने वाले कर्मियों पर आश्रित को मिलेगी नौकरी

प्रांताध्यक्ष अनिल वर्मा ने आगे कहा कि बीमा पॉलिसी के लिए कर्मचारियों से पैसे लिए जा सकते हैं. कर्मचारी इसके लिए 250 से एक हजार रुपये देने के लिए तैयार है. शर्मा कहते हैं कि कोरोना का इलाज काफी मंहगा है.  कर्मचारियों को इतने पैसे नहीं मिलते कि वो अस्पताल में इलाज करवा सके. 

बेवजह स्टेरॉयड लेना बना कोरोना मरीजों के लिए मुसीबत, डायबिटीज में बेहद खतरनाक

आपकों बता दें कि मार्च से मई के बीच आईटीआई में दो हजार से ज्यादा कर्मचारी कोरोना पॉजिटव पाए गए. इनमें से कई कर्मचारी आर्थिक रूप से कमजोर है. इनके इलाज के लिए आर्थिक मदद संस्थान ने की है. यह बात प्रांताध्यक्ष अनिल वर्मा ने बताई. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें