तेंदुए के मुंह से बच्चे को बचा लाई बहादुर मां, CM शिवराज भी हुए साहस के मुरीद

Swati Gautam, Last updated: Wed, 1st Dec 2021, 10:22 PM IST
  • मध्य प्रदेश के सीधी जिले में जब एक तेंदुआ बच्चे को मुंह ने दबाकर भाग गया तो मां ने अपनी बहादुरी दिखाई और तेंदुए से भिड़ गईं. इस लड़ाई में हार तेंदुए की हुई और मां ने अपने बच्चे की जान बचा ली. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी महिला किरण की तारीफ करते हुए कहा कि साहसिक मां को मैं शत-शत प्रणाम करता हूं. मां और पुत्र के इलाज का खर्च सरकार वहन करेगी.
तेंदुए के मुंह से बच्चे को बचा लाई बहादुर मां, CM शिवराज भी हुए साहस के मुरीद. (photo credit- twitter)

इंदौर. बच्चे के लिए एक मां अपनी जान भी दाव पर लगा सकती है इसका जीता जागता उदाहरण मध्य प्रदेश के सीधी जिले में देखा जा सकता है जहां एक मां अपनी जान पर खेलकर आदमखोर तेंदुए से अपने बच्चे को छुड़ा लाई. जानकारी अनुसार 8 साल के बच्चे को तेंदुआ मुंह में भर कर जंगलों में ले गया लेकिन मां बिल्कुल न डरी और बढे साहस के साथ तेंदुए का पीछा करते हुए जंगलों तक गई और अपने बच्चे को बचा लिया. मां की इस बहादुरी के लिए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी अभिनंदन किया और यह कहा कि घायल मां और बच्चे दोनों के इलाज का खर्च सरकार उठाएगी.

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि देर शाम ठंड से बचने के लिए किरण अपने बच्चों के साथ अलाव के पास बैठी हुई थीं. एक बच्चा किरण की गोद में तो दो आस-पास बैठे थे. इतने में घात लगाए बैठा तेंदुआ आया और बच्चे पर हमला बोलते हुए एक बच्चे को मुंह में दबाकर उठा ले गया. चारों और अंधेरा था लेकिन फिर भी किरण तुरंत तेंदुए के पीछे भागीं. तकरीबन एक 1 किमी दूर तेंदुआ उसके बच्चे को अपने पंजों से दबाकर बैठ गया. इतने में मां ने साहस दिखाते हुए बच्चे को किसी तरह तेंदुए के कब्जे से मुक्त करा लिया और शोर करने लगी. चीख-पुकार सुनकर और स्थानीय गांव वाले भी मौके पर आ गए, जिससे तेंदुए को अपना शिकार छोड़कर भागना पड़ा.

डांसिंग कॉप का वायरल वीडियो, मून वॉक करते हुए संभालते हैं शहर का ट्रैफिक

सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम घटनास्थल पर पहुंची और घायल बच्चे को इलाज के लिए कुसमी अस्पताल में एडमिट कराया. बच्चे को गाल, पीठ और एक आंख में गंभीर चोट आई है. वहीं सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस साहसी मां को प्रणाम करते हुए लिखा कि 'काल के हाथों से बच्चे को निकाल कर नया जीवन देने वाली मां को प्रणाम. प्रदेश के सीधी जिले में तेंदुए का एक किमी दूर पीछा कर मां अपने कलेजे के टुकड़े के लिए उससे भिड़ गईं. मौत से टकराने का ये साहस ममता का ही अद्भुत स्वरूप है. मां श्रीमती किरण बैगा का प्रदेशवासियों की तरफ से अभिनंदन.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अगले ट्वीट में लिखा कि तेंदुए के हमले से अपने बेटे को बचाने वाली साहसिक मां और पुत्र के इलाज का खर्च सरकार वहन करेगी. उनके जीवन व स्वास्थ्य की चिंता अब प्रदेश की जिम्मेदारी है. काल के हाथों अपने कलेजे के टुकड़े को सुरक्षित बचाने की घटना अद्भुत व हृदयस्पर्शी है. साहसिक मां को मैं शत-शत प्रणाम करता हूं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें