इंदौर एयरपोर्ट विस्तार के लिए मंत्रालय ने दी हरी झंडी,पीपीपी मोड पर निर्माण

Smart News Team, Last updated: Fri, 7th Aug 2020, 1:05 PM IST
  • इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर एयरपोर्ट को जल्द ही 20 एकड़ जमीन का कब्जा मिलने वाला है। जमीन के लिए एयरपोर्ट को पर्यावरण मंत्रालय से अनापत्ति प्रमाणपत्र प्राप्त भी मिल चुका है। एयरपोर्ट के विकास के लिए प्रबंधन ने प्रदेश सरकार से बिजासन मंदिर टेकरी के नीचे स्थित 20.84 एकड़ जमीन मांगी थी।
इंदौर एयरपोर्ट

इंदौर से हवाई यात्रा करने वाले लोगों को अब जल्द ही नया टर्मिनल भवन बना हुआ नजर आएगा। सालों से चल रहा इंतजार अब जल्द खत्म होने वाला है। आपकों बता दे मध्यप्रदेश सरकार ने करीब तीन साल पहले सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़कर उषा राजे ट्रस्ट से यह विवादित जमीन हासिल की थी। जिसे एयरपोर्ट प्रबंधन ने प्रदेश सरकार से नए निर्माण के लिए यह जमीन मांगी थी। प्रदेश सरकार ने साल 2018 में बिजासन मंदिर टेकरी के नीचे स्थित 20.84 एकड़ जमीन एयरपोर्ट को आवंटित भी कर दी थी।

इस जमीन पर लगे पेड़ों को हटाने के लिए वन विभाग द्वारा 1.43 करोड़ रुपए राशि भी मुआवजे के लिए जारी की गई थी। लेकिन मामला पर्यावरण मंत्रालय में जाकर अटक गया था। इस संबंध में इंदौर के सांसद शंकर लालवानी ने एनओसी के लिए केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से चर्चा कर इसे हरी झंडी दिलवाई है। अब स्वीकृति मिलने के बाद एयरपोर्ट विस्तार का रास्ता खुलता नजर आ रहा है। हालांकि इसे सरकार पीपीपी मोड पर देने की मूड बना रही है। जो नई कंपनी इसे ठेके पर लेगा वहीं इसका विस्तार भी करवाएगा।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें