इंदौर में ATM टेम्पर कर बदमाशों ने ग्राहकों के लाखों रूपए उड़ाए, हरियाणा के गिरोह पर शक

ABHINAV AZAD, Last updated: Mon, 13th Sep 2021, 9:10 AM IST
  • बदमाश पैसे निकालने के बहाने एटीएम में घुसे. एटीएम में घुसने के बाद बदमाशों ने एटीएम से छेड़छाड़ किया और शटर के साथ भी तोड़फोड़ की. इसके बाद जब ग्राहक पैसे निकालने आए तो उन्होंने देखा कि प्रोसेस तो पूरा हो गया लेकिन पैसे की निकासी नहीं हुई.
एटीएम में पैसे निकालने के बहाने घुसने के बाद बदमाशों ने एटीएम से छेड़छाड़ किया. (प्रतिकात्मक फोटो)

इंदौर. एटीएम मशीनें टेम्पर कर ग्राहकों के पैसे उड़ाने के मामले में तेजी से बढ़ोतरी हुई है. ताजा मामला मध्यप्रदेश के इंदौर का है. दरअसल, बैंक अफसरों पूर्व व पश्चिम की तकरीबन 11 से ज्यादा मशीनों की रिपोर्ट बना चुके हैं, जिन एटीएम को टेम्पर कर बदमाश पैसे उड़ा चुके हैं. शनिवार दोपहर डीआइजी मनीष कपूरिया को एटीएम टेम्परिंग और पैसे उड़ाने की सूचना मिली. जिसके बाद डीआइजी ने क्राइम ब्रांच को एफआइआर के लिए थानों पर भेजा है.

एएसपी क्राइम गुरूप्रसाद पाराशर ने बताया कि जो कंपनी एटीएम मशीनों का रखरखाव करती है, उसके अफसरों की शिकायत पर चंदननगर, परदेशीपुरा, हीरानगर, लसूड़िया समेत अन्य थानों में मामला दर्ज कर लिया गया है. बैंक अधिकारी मनीष पाराशर ने पुलिस को बताया कि बदमाश पैसे निकालने के बहाने एटीएम में घुसे. एटीएम में घुसने के बाद बदमाशों ने एटीएम से छेड़छाड़ किया और शटर के साथ भी तोड़फोड़ की. दरअसल, इसके बाद जब संबंधित ग्राहक पैसे निकालने आए तो उन्होंने देखा कि प्रोसेस तो पूरा हो गया लेकिन पैसे की निकासी नहीं हुई.

मौसम विभाग का अलर्ट, बंगाल की खाड़ी में बने लो प्रेशर से MP में एक सप्ताह हो सकती है भारी बारिश

मिली जानकारी के मुताबिक, ग्राहक के जाने के बाद बदमाशों ने शटर खोला और रुपये लेकर फरार हो गए. शुक्रवार तड़के सुबह बैंक के मुंबई स्थित कार्यालय में छेड़छाड़ का मैसेज गया, जिसके बाद एटीएम टेम्परिंग की इस घटना का पता चला. घटना की सूचना मिलने के बाद एक्सपर्ट की टीम इंदौर पहुंची और सभी एटीएम की जांच की. पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने इससे पहले भोपाल, जबलपुर समेत मध्यप्रदेश के कई शहरों में इस वारदात को अंजाम दिया है. दरअसल, क्राइम ब्रांच एएसपी के मुताबिक वारदात में हरियाणा के मेवात के गिरोह के शामिल होने के सुराग मिले हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें