इंदौर जू से भागी मादा तेंदुआ जब पकड़ा गया तो निकला नर, घूम गया अफसरों का सिर

Ruchi Sharma, Last updated: Thu, 9th Dec 2021, 1:25 PM IST
  • इंदौर जू में पिंजरे से भागे तेंदुए के मामले में नया मोड़ आ गया है. जब वह पिंजरे से भागा तब मादा थी, लेकिन जब वह पकड़ा गया तो नर हो गया. इस मामले से तेंदुए के रेस्क्यू पर सवाल उठने लगे और मामला उलझने लगा. अब इस मामले पर कोई अधिकारी कुछ भी स्पष्ट कहने की हालत में नहीं है.
इंदौर जू से भागी मादा तेंदुआ जब पकड़ा गया तो निकला नर, घूम गया अफसरों का सिर

इंदौर. इंदौर जू लाया गया तेंदुआ कुछ दिन पहले भाग निकला था. जिसे लेकर वनविभाग में हड़कंप मच गया. उसकी तलाश में वन विभाग और प्राणि उद्यान की टीम लगी हुई थी. भागा हुआ तेंदुआ मादा बताई जा रही थी. मादा तेंदुआ को पकड़ने के लिए रेस्क्यू टीम ने रात दिन एक कर दिया, लेकिन जब वह पकड़ा गया तो लोग हैरानी में पड़ गए क्योंकि जब वह पिंजरे से भागा तब मादा थी लेकिन जब वह पकड़ा गया तो नर हो गया. इस मामले से तेंदुए के रेस्क्यू पर सवाल उठने लगे और मामला उलझने लगा. अब इस मामले पर कोई अधिकारी कुछ भी स्पष्ट कहने की हालत में नहीं है.

बुरहानपुर डीएफओ बुरहानपुर प्रदीप मिश्रा का कहना है कि डॉक्टर ने जो रिपोर्ट तैयार की उसमें जल्दबाजी में गलती हो गई होगी. जो तेंदुआ भागा, वही पकड़ा गया है.

 

शराबी चोर! अंधेरे में शातिर चोरों ने तोड़ा ताला, लाखों की लूट के साथ उड़ाई एक शराब की बोतल

 

जू से भाग गया था तेंदुआ

दरअसल बुरहानपुर नावरा (नेपानगर) से इंदौर जू लाया गया तेंदुआ पिंजरे से भाग गया था. उसे सातवें दिन मंगलवार को चिड़ियाघर से ढाई किमी दूर नवरतन बाग में पकड़ा गया. वन विभाग की टीम को सुबह 10.35 बजे माली से सूचना मिली कि तेंदुआ परिसर में ही है. टीम 10.50 बजे वहां पहुंची और 11.40 तक उसे पकड़ लिया.

सात महीने का तेंदुआ

इस पूरी घटना का एक ऑडियो भी सामने आया है. इसमें एक अधिकारी ने बुधवार रात दूसरे अधिकारी को सूचना दी और बताया कि तेंदुआ मादा है. वह करीब-करीब 7 महीने का है. उसके पैरों में गंभीर चोट है. हालांकि, इस बीच जो वीडियो बुरहानपुर से मिले, उसमें तेंदुए के दोनों पैर जख्मी तो हैं, लेकिन वह नर है. इस बीच अधिकारियों का कहना है कि कोई भी बिल्ली प्रजाति का जंगली जानवर पैर जख्मी होने के बाद छलांग लगाकर पिजरे से नहीं भाग सकता.

 

पटना : आधुनिक बनेगा कन्हौली में बस अड्डा, यात्रियों को मिलेगी ये सुविधाएं

 

जल्दबाजी में हो गई गलती

जानकारी के मुताबितत तेंदुए के भागने के निशान जू में उस वक्त भी नहीं मिले, जिस वक्त उसे जू के अंदर लाना बताया जा रहा है. इस बारे में बुरहानपुर डीएफओ प्रदीप मिश्रा ने बताया कि दोनों तेंदुए के फोटो को मिलाया गया. दोनों के चेहरे पर बने काले धब्बे एक जैसे ही थे. वेटरनरी डॉक्टर की रिपोर्ट में जल्दबाजी में गलती हो गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें